करप्शन को लेकर फिर बोले CM गहलोत:जो लोग पकड़े जा रहे हैं वे शिक्षा विभाग के तो हैं नहीं, वह बात टीचर्स को लेकर नहीं थी

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बुधवार को दौसा विधानसभा क्षेत्र के बोरोदा गांव के दौरे पर रहे। यहां से लौटते वक्त सीएम ने बीते दिनों जयपुर में एक कार्यक्रम में दिए गए बयान को लेकर पत्रकारों से कहा कि हिंदुस्तान में सबसे अच्छा काम राजस्थान की एसीबी कर रही है। जो लोग पकड़े जा रहे हैं वह शिक्षा विभाग के तो हैं नहीं, ऐसे में वह बात टीचर्स को लेकर नहीं थी।

उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा है कि भ्रष्टाचार कैसे रुके। पिछले दिनों कलेक्टर-एसपी जैसे बड़े-बड़े अधिकारी भी पकड़े गए हैं, सस्पेंड तक हुए हैं। ऐसा आपको सिर्फ राजस्थान में ही मिलेगा। शिक्षा विभाग की तो मैंने सिर्फ इसलिए कहा था कि वे भी बेचारे तकलीफ पाते हैं। ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए पैसे देने की कोशिश की जाती है, यह नौबत इसलिए आती है कि ट्रांसफर पॉलिसी नहीं है। ऐसे में यदि पॉलिसी बन जाए तो ना टीचर्स को पैसा देना पड़ेगा और ना ही करप्शन होगा।

मेरे मंत्रालयों के भी कई लोग पकड़े गए

सीएम ने कहा कि मेरे पास भी जो मंत्रालय हैं उनके भी कई अधिकारी पकड़े गए हैं, लेकिन यह बात फैलाई गई है कि शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार है यह बात गलत है। उस दिन यही बात कहना मेरा मकसद था। बाकी जो लोग पकड़े जा रहे हैं वह तो दूसरे डिपार्टमेंट के हैं।

विधायकों की सरकार से कोई शिकायत नहीं

विधायकों में भेदभाव की बात को लेकर पूछे गए सवाल पर सीएम ने कहा कि हम सभी 115 विधायकों से प्रभारी अजय माकन ने वन-टू-वन बात की थी। प्रदेश प्रभारी को सभी विधायकों ने कहा था कि काम के मामले में सरकार से हमारी कोई शिकायत नहीं है। विधायकों ने जितने काम मांगे थे सबको कुछ ना कुछ जरूर दिया गया है। कांग्रेस में किसी प्रकार की कोई गुटबाजी नहीं है, लेकिन बीजेपी वाले अफवाह फैला रहे हैं।

नेशनल न्यूज़ बनी थी BJP की हार

सीएम ने कहा कि बीजेपी वाले जो अफवाह फैला रहे हैं। उनके प्रत्याशियों की चुनाव में जमानत जब्त हो गई। उनके प्रत्याशी कोई तीसरे तो कोई चौथे नंबर पर रहा है। यह ऑल इंडिया न्यूज़ बनी है। गुटबाजी को लेकर सीएम ने कहा झगड़ा तो बीजेपी वालों के यहां है, कांग्रेस पार्टी में कोई झगड़ा नहीं है। हम सब एकजुट हैं आने वाले टाइम में आपको खुद को महसूस हो जाएगा।

पब्लिक को बाद में पश्चाताप होता है

सीएम ने कहा कि मैं पब्लिक से आह्वान करता हूं कि हमें फिर से मौका दीजिए। हम अच्छे काम करते हैं लेकिन फिर भी हमें बदल देते हैं। इसका पब्लिक को बाद में पश्चाताप होता है और फिर से दोबारा हमको लेकर आते हैं। क्योंकि हम सरकार में रहने के दौरान कई नवाचार करते हैं। उपचुनाव में मिली जीत से लगता है कि राजस्थान में सत्ता विरोधी कोई लहर नहीं है।

खबरें और भी हैं...