पहाड़ी पर मिला किशोरी का कंकाल:29 सितम्बर को दर्ज कराई थी गुमशुदगी, बहन ने पहाड़ी पर देखा शव, गले में पहनी माला से पहचाना

दौसा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोलवा के भांवता गांव की पहाडी से शव लेकर नीचे आती पुलिस व ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
कोलवा के भांवता गांव की पहाडी से शव लेकर नीचे आती पुलिस व ग्रामीण।

जिले के भांवता गांव की पहाड़ी पर सोमवार सुबह एक नर कंकाल मिलने से सनसनी फैल गई। जिसकी पहचान 19 साल की किशोरी के रूप में हुई है। वह दो माह पूर्व अचानक घर से लापता हो गई थी। इस सम्बंध में परिजनों ने कोलवा थाने में गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी। ऐसे में अब किशोरी का कंकाल अवस्था में शव मिलने से कई सवाल खड़े हो गए हैं।

पुलिस ने शव को बांदीकुई अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी अनिल बेनीवाल भी मौके पर पहुंचे हैं। पुलिस ने बताया कि पहाडी पर काफी उंचाई में एक क्षत-विक्षत शव होने की सूचना पर मौके पर पहुंचे। जहां बुरी-तरह विक्षत कंकाल अवस्था में मिले शव की पहचान गांव की ही रहने वाली पूजा हरिजन (19) के रुप में हुई। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि शव पूरी तरह गल चुका था। हाथ-पैर शरीर से अलग हो चुके थे। जिसे इकट्ठा कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल ले जाया गया है। किशोरी की संदिग्ध मौत को लेकर पुलिस अभी कुछ भी कहने से बच रही है तो परिजनों ने उनकी बच्ची को न्याय दिलाने की गुहार लगाई है।

छोटी बहन को मिली थी गले की माला
रविवार शाम को किशोरी की छोटी बहन पहाडी पर गई थी। इस दौरान उसे गले की माला व कुछ अन्य सामान पडे मिले। जिन्हें परिजनों को लाकर दिए लेकिन रात होने के कारण पहाडी पर नहीं जा सके। सोमवार सुबह परिजनों ने पहुंचकर तलाश की तो पहाडी के उपर पौधों की ओट में कंकाल अवस्था में शव पडा दिखा।

पहाडी पर पडा किशोरी का कंकाल।
पहाडी पर पडा किशोरी का कंकाल।

29 सितंबर को दर्ज कराई थी गुमशुदगी
किशोरी के अचानक घर से गायब होने के बाद परिजनों ने उसे इधर-उधर काफी तलाश किया, लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। इसके बाद परिजनों ने 29 सितंबर को कोलवा थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। ऐसे में पुलिस ने रिपोर्ट तो दर्ज की, लेकिन किशोरी को ढूढने के नाकाफी प्रयासों से मामला कागजों में दबकर रह गया। ऐसे में परिजन अब न्याय की उम्मीद लगाए बैठे हैं।

बडा सवाल- FSL जांच के बिना क्यों उठाया शव
कोलवा पुलिस ने एफएसएल टीम को मौके पर बुलाए बिना ही शव उठाकर बांदीकुई अस्पताल पहुंचा दिया। ऐसे में मौके से साक्ष्य जुटाने को लेकर कोलवा पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है। थाना प्रभारी रविन्द्र कुमार ने बताया कि किशोरी का घर पहाडी की तलहटी में ही स्थित है। जिनके पहाडी पर आने-जाने की जानकारी मिली है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों का खुलासा हो सकेगा।

खबरें और भी हैं...