पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

...मर गई संवेदनाएं:आईसीयू में शिफ्ट करने की गुहार लगाते रह गए परिजन, सांसें थमी

दौसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दौसा | इलाज के लिए तड़प-तड़पकर टूट गई युवक की सांसें। - Dainik Bhaskar
दौसा | इलाज के लिए तड़प-तड़पकर टूट गई युवक की सांसें।
  • जिला हॉस्पिटल के हाल-बेहाल, कोई इंजेक्शन तो कोई ऑक्सीजन के लिए कर रहा मिन्नतें
  • परिजनों का हंगामा, आग लगाने की धमकी

कोरोना वार्ड में मरीजों की मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है। देखते- देखते मरीज दम तोड़ रहे हैं। इससे हालात भयावह नजर आ रहे हैं। गुरुवार को वार्ड में भर्ती गेरोटा निवासी हरकेश मीणा (40) की हालत बिगड़ी तो परिजन उसे आईसीयू में शिफ्ट करने की गुहार लगाते रहे। इस दौरान तड़पते युवक ने दम तोड़ दिया। युवक की मौत पर परिजनों ने वार्ड में हंगामा कर दिया। परिजनों का कहना था कि अस्पताल में गंभीर मरीजों की कोई सुनवाई नहीं है। बार-बार आईसीयू में शिफ्ट करने की गुहार लगाने के बाद भी चिकित्साकर्मियों ने उनकी एकनहीं सुनी।एक दिन पहले ही बगल के बेड पर युवक की मौत हो चुकी है।

आक्रोशित परिजनों ने आग लगाने की धमकी तक दे डाली। हालात बेकाबू होने पर पुलिस बुलाई गई। पुलिस ने लोगों को समझाकर बाहर भेजा। इस बीच युवक के शव के साथ परिजन विलाप कर रहे थे।हर कोई रेमडेसिविर मांग रहा, हम जरूरतमंद मरीजों को ही लगाते हैं...कोविड प्रभारी डाॅ.आर.डी. मीणा का कहना है कि हर मरीज रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाना चाहता है। ऐसे में इसके लिए मारामारी बची हुई है। जबकि हम जिस मरीज को जरूरत होती है, उसे ही लगा रहे हैं। बांदीकुई के दिनेश शर्मा को इंजेक्शन लगाने के लिए लिख रखा है। इसकी सुबह सप्लाई नहीं मिली, अब इंजेक्शन मिले हैं। जिसे जल्द लगाया जाएगा। मरीज का सीटी स्कोर 15 से ऊपर व ऑक्सीजन सेच्युरेशन 90 से कम होने पर ही यह इंजेक्शन लगाया जाता है। अन्य स्थिति में यह फायदेमंद नहीं है। इस बात का मरीजों को भी ध्यान रखना चाहिए। लोग भी कोरोना संकट में घबराए नहीं, सहयोग करें।

परिजनों का आरोप... मरीज को दो दिन से रेमडे सिविर इंजेक्शन नहीं लगाया जा रहा

सर्जिकल वार्ड में भर्ती बांदीकुई निवासी दिनेश शर्मा के परिजनों का कहना था कि दो दिन से मरीज का ऑक्सीजन सेच्युरेशन 74 चल रहा है। इसके बावजूद उसे रेमडेसिविर इंजेक्शन नहीं लगाया जा रहा है। मरीज की हालत बिगड़ने पर उसे दो दिन पहले बांदीकुई से दौसा रेफर किया, लेकिन यहां कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

स्टाफ से मिन्नतें करते रहे, नहीं संभाला, मौत

तीसरी मंजिल पर स्थित कोविड वार्ड में 4 दिन से भर्ती एक और मरीज ने दोपहर में दम तोड़ दिया। इस मामले में भी परिजनों ने अस्पताल प्रशासन की लापरवाही का आरोप लगाया। मोहन जायसवाल (50) निवासी दौसा ने वार्ड में दम तोड़ दिया जिसे संभालने के लिए परिजन स्टाफ की मिन्नतें करते रहे।

खबरें और भी हैं...