महंगाई के विरोध में कांग्रेस का धरना:नेताओं ने केन्द्र की भाजपा सरकार को जनविरोधी बताते हुए कटाक्ष किए, संगोष्ठी में कार्यकर्ताओं को 1971 के युद्ध के बारे में बताया

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दौसा में धरना देते कांग्रेस के नेता। - Dainik Bhaskar
दौसा में धरना देते कांग्रेस के नेता।

देश में बढ़ती महंगाई, तेल व रसोई गैस कीमतों में बढ़ोतरी, बेरोजगारी, कृषि कानून व सरकारी सम्पत्तियों के निजिकरण के विरोध में बुधवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कलेक्टेट पर धरना दिया। जहां कांग्रेस नेताओं ने केन्द्र सरकार को जनविरोधी बताते हुए महंगाई के मुद्दे पर आड़े हाथों लिया। महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने कहा, भाजपा सरकार ने आवश्यक वस्तुओं के दाम बढ़ाकर देश के लोगों के साथ धोखा किया है। रसोई गैस व तेल के दाम आसमान छू रहे हैं, जो कि गरीब लोगों की पहुंच से दूर हो गए हैं। इससे जनता में केन्द्र की भाजपा सरकार के खिलाफ आक्रोश व्याप्त है।

वहीं दौसा विधायक मुरारीलाल मीणा ने कहा कि केन्द्र सरकार देश के बड़े सरकारी उपक्रमों को बेचकर निजिकरण को बढ़ावा दे रही है। इससे रोजगार खत्म होने से दिनोंदिन बेरोजगारी बढ़ रही है। बांदीकुई विधायक जीआर खटाणा ने कहा, भाजपा सरकार विकास की चकाचौंध दिखाकर देश की जनता को गुमराह कर रही है। महंगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है, गरीब की थाली से दाल भी गायब हो गई है। कृषि कानून लाकर किसानों का शोषण करने का प्रयास शुरू कर दिया है। इस दौरान जिला प्रमुख हीरालाल सैनी, पूर्व जिलाध्यक्ष रामजीलाल ओढ़, पूर्व विधायक महेन्द्र मीणा, कांग्रेस नेता अजय बोहरा समेत पदाधिकारी मौजूद रहे।

कांग्रेस कार्यकर्ता की संगोष्ठी
इधर, बांग्लादेश की आजादी के 50 वर्ष पूरे होने पर कांग्रेस द्वारा रावत पैलेस होटल में संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसे महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश, विधायक जीआर खटाणा, मुरारीलाल मीणा व पूर्व विधायक महेन्द्र मीणा ने सम्बोधित किया। जिले भर से आए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के कार्यकाल के दौरान हुए 1971 में पाकिस्तान से हुए युद्ध व बांग्लादेश की आजादी के बारे में बताया गया।

खबरें और भी हैं...