पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वास्थ्य से खिलवाड़:जिला कृषि विभाग में अफरा-तफरी मची; बैंगन व हरी मिर्च में कीटनाशक की मात्रा मिली, लोगों में कैंसर का खतरा

दौसा3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कृषि सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग की ओर से लिए गए नमूने में हुआ खुलासा

किसानों द्वारा सब्जी की फसल में किए जा रहे कीटनाशकों के अंधाधुंध उपयोग के कारण बैंगन व हरी मिर्च में कीटनाशक के अवशेष मिले हैं। इससे मानव स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ने की आशंका के चलते कृषि विभाग में अफरा-तफरी मच गई है। कृषि सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग की ओर से पिछले वर्ष दौसा कृषि उपज मंडी स्थित सब्जी मंडी में से बैंगन व हरी मिर्च में कीटनाशक का अवशेष जांचने के लिए गए नमूने में कीटनाशक के अवशेष पाए गए हैं। इसको देखते हुए अब विभाग द्वारा सब्जी उत्पादन क्षेत्रों में कीटनाशक के संतुलित उपयोग के लिए किसानों को विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए विभाग की जयपुर की टीम द्वारा दौरा कर प्रशिक्षण के लिए स्थानों का चयन किया जा रहा है। वर्ष 2018-19 में दौसा मंडी से बैंगन व हरी मिर्च में कीटनाशक का अवशेष जांचने के लिए नमूने लिए गए थे, जिनमें साईपरमैथ्रीन 0.2 के स्थान पर 0.87 व फिप्रोनिल 0.01 के स्थान पर 0.10 पीपीएम पाया गया। जो मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इसको देखते हुए भारत सरकार के कृषि सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग के अधीनस्थ जयपुर क्षेत्रीय कार्यालय की टीम ने गुरुवार को दौसा क्षेत्र, लवाण, खानपुरा, रजवास आदि का दौरा किया। अब जिले में अन्य क्षेत्र में स्थान का चयन कर किसानों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। कृषि विभाग द्वारा अब सब्जी उत्पादन क्षेत्रों में विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा।

किसानों को दिया जाएगा प्रशिक्षण
कृषि विभाग द्वारा सब्जी उत्पादन क्षेत्रों में फसल में कीटनाशक के संतुलित उपयोग के लिए किसानों को जागरूक किया जाएगा। प्रशिक्षण के लिए स्थानों का चयन किया जा रहा है। किसानों को कीटनाशक की पैकेज ऑफ प्रेक्टिस में संस्तुत मात्रा का ही उपयोग करने, कीटनाशक का अभिशंषित मात्रा से अधिक उपयोग नहीं करने, घटिया एवं अमानक कीटनाशक का उपयोग नहीं करने, अपंजीकृत एवं गैर अनुमाेदित कीटनाशक का उपयोग नहीं करने, अधिकृत, पंजीकृत निर्माता, विक्रेता से ही कीटनाशक खरीदने, कीट-व्याधि प्रकोप की प्रारंभिक अवस्था में जैविक कीटनाशी, जैव कारकों का उपयोग करने की जानकारी दी जाएगी। कीटनाशक का संतुलित उपयोग करने के लिए किसानों को जागरूक किया जाएगा।

जिला अस्पताल के वरिष्ठ विशेषज्ञ मेडिसिन डॉ. आर. डी. मीणा का कहना है कि सब्जी की फसल में कीटनाशक के अत्यधिक उपयोग से कैंसर रोग हो सकता है। कृषि विस्तार दौसा के सहायक निदेशक अनिल शर्मा का कहना है कि कीटनाशक के सुरक्षित उपयोग के लिए समन्वित कीट प्रबंधन प्रशिक्षणों का आयोजन किया जाएगा। सब्जियों के उत्पादन क्षेत्रों में विशेष रूप से प्रशिक्षण का आयोजन किया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें