लापरवाही:रीको में टूटने लगे पानी निकासी के नाले, उद्यमियों ने जताया रोष

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लालसोट |औद्योगिक क्षेत्र में पानी निकासी के नाले में हो रही अनियमितताओं व दरकती दीवारों की जानकारी देते उद्यमी। - Dainik Bhaskar
लालसोट |औद्योगिक क्षेत्र में पानी निकासी के नाले में हो रही अनियमितताओं व दरकती दीवारों की जानकारी देते उद्यमी।
  • उद्योग मंत्री के विधानसभा क्षेत्र में हो रहे निर्माण कार्यों में अनियमितता

उपखंड के डीडवाना ग्राम स्थित औद्योगिक क्षेत्र में पानी निकास की समुचित व्यवस्था किए जाने को लेकर सरकार द्वारा साढ़े 4 करोड़ रुपए की लागत से करवाए जा रहे पानी निकास के नाले टाइल्स रोड वह औद्योगिक क्षेत्र के पानी को धनेश्वर तालाब तक ले जाने के लिए बनाई जा रही सीवरेज लाइन के निर्माण तथा टाइल्स रोड की मरम्मत के निर्माण कार्य में बजरी की जगह ढूंढा इस्तेमाल होने जैसी अनियमितताओं को लेकर उद्योगपतियों का आक्रोश फूट पड़ा।स्थिति यह रही कि उद्योग मंत्री के विधानसभा क्षेत्र में हो रहे निर्माण कार्य में उन्हीं के अधीन आने वाले रीको विभाग के अधिकारियों द्वारा की जा रही अनदेखी “दिया तले अंधेरा” वाली कहावत को चरितार्थ कर रही है।

हालत यह है कि ट्रिपल स्टार के सामने से धनेश्वर तालाब तक जाने के लिए पानी बहाव का परंपरागत रास्ता बना हुआ है जो सरकारी जमीन है मगर चंद लोगों को लाभान्वित करने के लिए रीको अधिकारियों द्वारा दिशा में तब्दीली कर पानी निकास की सीवर लाइन ट्रिपल स्टार के पास से होकर सीधा निर्माण कार्य शुरू कर रखा है।नालों की ढलान सही नहीं होने से मालिया इंडस्ट्रीज के पास से ट्रिपल स्टार तक जाने वाले पानी निकास के नाले में पानी का भरा हुआ है जो नाला निर्माण की तकनीकी की पोल खोल रहा है। औद्योगिक क्षेत्र के पानी को धनेश्वर तालाब तक ले जाने के लिए बनाई जा रही सीवर लाइन की गहराई कम होने से धनेश्वर तालाब का पानी औद्योगिक क्षेत्र में वापस आने की संभावना बनी हुई है।

उन्होंने अधिकारियों से पानी निकासी की व्यवस्था की तकनीकी खामी को दूर किए जाने की मांग की है। रमाकांत शर्मा मुन्ना निजामपुरा ताराचंद चौधरी मोनू बगड़ी मोहनलाल मुन्नालाल भगवान साहू सहित अन्य उद्यमी मौजूद थे।निर्माण में बजरी काम में ली हैठेकेदार के प्रतिनिधि विशाल जैन ने बताया कि निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्ण किया गया है ।कोई कमी खामी होगी टूट-फूट होगी उसे ठीक कर दिया जाएगा ।अभी काम जारी है, मिट्टी का कहीं भी इस्तेमाल नहीं किया ।बजरी से ही निर्माण काम किया गया है।

बजरी की जगह मिट्टी के इस्तेमाल की जांच कराएंगे निर्माण कार्य में किसी किसी भी तरह की अनियमितता को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। टाइल्स रोड दबी हुई है उन्होंने भी निरीक्षण में देखा है। अभी विभाग ने निर्माण कार्य को संभाला नहीं है जहां-जहां भी पानी निकास के नाली टूटी होंगे या क्षतिग्रस्त हुए होंगे ठीक करवाया जाएगा । टाइल्स मरम्मत कार्य में बजरी की जगह मिट्टी का इस्तेमाल गंभीर बात है मामले की जांच की जाएगी।

सीवर लाइन जलदाय विभाग की पाइप लाइनों के आ जाने के कारण उनको ट्रिपल स्टार से सीधे ही ले जाए जा रहा है, आगे जाकर घुमाव दिया जाएगा। धनेश्वर तालाब का पानी औद्योगिक क्षेत्र में वापस आएगा यह बेबुनियाद है ।पूरी तकनीकी विशेषज्ञों के साथ नाले का निर्माण किया जा रहा है। वर्तमान में नाला आगे से बंद होने के कारण पानी निकास के नालों में पानी भरा हुआ है।-परेश सक्सेना, आरएम, रीको

खबरें और भी हैं...