पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

CMHO व रेडियोलोजिस्ट डॉक्टर में तनातनी:लिंग परीक्षण की शिकायत पर नोटिस भेजा तो डाॅक्टर ने की शिकायत, सीएमएचओ पर लगाए कन्या भ्रूण हत्या को बढ़ावा देने के आरोप

दौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दौसा CMHO डाॅ. मनीष चौधरी - Dainik Bhaskar
दौसा CMHO डाॅ. मनीष चौधरी

सोनोग्राफी जांच में घालमेल की शिकायत पर सीएमएचओ द्वारा जिला अस्पताल में तैनात एक डाॅक्टर को नोटिस देने के मामले में तूल पकड़ लिया है। इसके बाद वरिष्ठ रेडियोलोजिस्ट डाॅ. शिवचरण मीणा ने मंगलवार को पीसीपीएनडीटी के राज्य समुचित प्राधिकारी को शिकायत भेजकर सीएमएचओ डाॅ. मनीष चौधरी व पीसीपीएनडीटी के जिला समन्वयक मुनेन्द्र शर्मा पर कन्या भ्रूण हत्या को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

इससे पहले सोमवार को सीएमएचओ ने डाॅ. मीणा को नोटिस देकर सोनोग्राफी जांच सम्बंधी फार्म में कमियों का हवाला देते हुए कार्रवाई की चेतावनी देकर तीन दिन में नोटिस का जवाब देने के निर्देश दिए थे। ऐसे में नोटिस के बाद आरोप-प्रत्यारोपों का दौर शुरू हो गया है।

डाॅक्टर को दिए नोटिस में आरोप
सीएमएचओ द्वारा डाॅ. शिवचरण मीणा को पीसीपीएनडीटी की धारा 23 और 25 में दिए गए नोटिस में बताया है कि डाॅ. मीणा द्वारा गर्भवती महिलाओं की लिंग जांच किए जाने की शिकायत मिल रही हैं। जिसके फार्म एफ की जांच में कई कमियां पाई गई तथा नियमानुसार जानकारी भी नहीं भरी गई है।
इसके साथ ही अनिवार्य रूप से भरे जाने वाले कई काॅलम खाली छोड़ रखे हैं तथा जांच कराने वाली महिलाओं के बच्चों का भी उल्लेख नहीं है। जो कि एक्ट 1994 और नियम 1996 का उल्लंघन है। ऐसे में यह धारा 23 के तहत एक अपराध की श्रेणी में आता है।

सीएमएचओ पर लगाए आरोप
वहीं दूसरी ओर डाॅ. शिवचरण मीणा द्वारा भेजी गई शिकायत में सीएमएचओ पर कन्या भ्रूण हत्या को बढावा देने समेत कई गंभीर आरोप लगाए हैं। पिछले दिनों सिकंदरा में नियम विरूद्ध चल रहे सोनोग्राफी सेंटर पर छापा मारा गया था, जिसमें गडबडी भी पकडी गई थी, इसके बावजूद मिलीभगत करके सेंटर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई।

इसके साथ ही जिला अस्पताल का सोनोग्राफी सेंटर इसलिए बंद करा दिया गया कि मरीजों को जांच के लिए समन्वयक द्वारा संचालित निजि केन्द्रों पर जाना पडे। डाॅ. मीणा का आरोप है कि मेरे द्वारा आरटीआई से सूचना मांग लेने से खफा होकर सीएमएचओ ने नोटिस देकर जेल भेजने की धमकी दी है। इस सम्बंध में सीएमएचओ से सम्पर्क नहीं हो सका।

समन्वयक चलाता है भ्रूण हत्या का रैकेट
डाॅ. मीणा ने पीसीपीएनडीटी समन्वयक मुनिन्द्र शर्मा पर कन्या भ्रूण हत्या का रैकेट चलाने का गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने शिकायत में लिखा है कि समन्वयक विधायिका व संसद के किसी भी कानून पर सबसे भारी है जो कि 2005 से बतौर संविदाकर्मी यहां पदस्थापित हैं। इनके द्वारा अस्पताल के सामने स्थित कई दुकानों पर सांठ-गांठ करके नियम विरूद्ध सोनोग्राफी केन्द्र चलाए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...