बेमौसम बारिश से फसलों को मिला अमृत:सर्द हवाओं के साथ बारिश ने बढ़ाई ठंडक, किसानों को तीसरी मावठ का फायदा

दौसा5 महीने पहले
दौसा जिले में बीती रात हुई बारिश व सर्द हवाओं ने ठंड बढ़ा दी है। बारिश से फसलों को फायदा होगा व किसानों का सिंचाई का खर्च बचेगा। - Dainik Bhaskar
दौसा जिले में बीती रात हुई बारिश व सर्द हवाओं ने ठंड बढ़ा दी है। बारिश से फसलों को फायदा होगा व किसानों का सिंचाई का खर्च बचेगा।

जिले में शुक्रवार रात से मौसम का मिजाज पूरी तरह बदल गया। तेज हवाओं के साथ रात करीब एक बजे से शुरू हुआ बारिश का दौर रुक-रुक कर करीब 40 मिनट चला, लेकिन बूंदाबांदी अलसुबह तक जारी रही। इससे जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। रातभर चले रिमझिम बारिश के दौर से गेंहू, जौ, चने की फसलों को फायदा मिला। वहीं तेज हवाओं के साथ बारिश से कई जगहों पर सरसों व जौ की फसलें आड़ी-तिरछी गिर गईं। बारिश से बारानी (बरसात के पानी पर निर्भर फसल) के किसानों को तीसरी मावठ का फायदा मिला है।

जिलेभर में हुई बारिश सभी तरह की फसलों के लिए फायदेमंद होने के साथ ही इससे किसान का एक बड़ा खर्चा भी बच गया। बेमौसम बारिश से किसान खुश हैं। वहीं सर्द हवाओं के बीच हालात ऐसे बने कि लोगों ने घर के अंदर ही आग जलाकर सर्दी से बचने की जद्दोजहद की। मौसम विभाग के अलर्ट व बारिश को देखकर ऐसा लग रहा है कि पूरे दिन ही यह क्रम जारी रहेगा।

उपज में बढ़ोतरी होगी

कृषि विशेषज्ञों का मानना है कि बारिश से अन्य वर्षों के मुकाबले उपज में कई गुना बढ़ोतरी होगी। बारिश से सिंचित एरिया में बिजली की बचत के साथ रात को कडाके की ठंड में सिंचाई करने वाले किसानों को भी राहत मिली है। सूर्य देव की लुकाछिपी से मौसम के नजारे बदलते रहे। किसानों ने तीसरी मावठ को अमृत समान बताया।

कंटेंट/वीडियो सपोर्ट: नवल शर्मा, पापड़दा

खबरें और भी हैं...