मनरेगा में काम का हक मांगा:रोजगार नहीं मिलने पर तीन गांवों की महिलाओं ने जताया विरोध, मनरेगा में काम का हक मांगा

दौसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दौसा ग्रामीण| ग्राम पंचायत कंवरपुरा मुख्यालय पर काली दीपावली मनाकर प्रदर्शन करते मनरेगा श्रमिक। - Dainik Bhaskar
दौसा ग्रामीण| ग्राम पंचायत कंवरपुरा मुख्यालय पर काली दीपावली मनाकर प्रदर्शन करते मनरेगा श्रमिक।

नवसृजित ग्राम पंचायत कंवरपुरा से जुड़े 3 गांवो के श्रमिकों को एक वर्ष से रोजगार नहीं मिलने पर शुक्रवार को श्रमिकों ने काली दीपावली मनाकर अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर विरोध जताया। सैकड़ों की संख्या में महिला श्रमिक हाथों में फावड़े पराते लेकर पंचायत मुख्यालय पहुंची। पंचायत मुख्यालय के सामने अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया। श्रमिकों के पंचायत मुख्यालय पर पहुंचने की जानकारी लगते ही सरपंच विजय बैरवा मौके पर पहुंचे तथा श्रमिकों को समझाइश कर शीघ्र ही नरेगा कार्य शुरू कराए जाने का आश्वासन देकर मामला शांत कराया।

राजंती देवी, फूली देवी, सोनी देवी, कमली देवी, लक्ष्मी देवी, रुकमा देवी, मन्ना देवी, मांगी देवी, रामजीलाल कल्याण सहाय,छीतरमल, रामेश्वर प्रसाद, गोपीलाल, कन्हैया लाल सहित अनेकों श्रमिकों ने रोष जताते हुए बताया कि विगत 2 वर्षों से कोरोना के चलते शहरों में रोजगार नहीं मिलने के कारण गांव में रहकर जीवन यापन कर रहे हैं। लेकिन विगत 1 वर्ष से ग्राम पंचायत क्षेत्र में एक भी जगह रोजगार शुरू नहीं होने के कारण घर चलाना मुश्किल हो रहा है।

श्रमिकों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए बताया कि हर ग्राम पंचायत मुख्यालय पर सरकार सभी को रोजगार उपलब्ध कराए जाने के लिए दावे तो कर रही है लेकिन नवसृजित ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आज तक अधिकारियों ने एक भी नरेगा कार्य शुरू नहीं किया गया है जबकि सैकड़ों श्रमिकों ने ग्राम पंचायत मुख्यालय पर फार्म प्रपत्र संख्या 6 आवेदन कर रखा है। विगत 1 वर्ष से ग्राम विकास अधिकारी से लेकर विकास अधिकारी पंचायत समिति मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद को प्रार्थना पत्र सौंपकर रोजगार मुहैया कराए जाने की मांग की जा चुकी है वही राजस्थान संपर्क पोर्टल पर रोजगार नहीं उपलब्ध होने की शिकायत दर्ज करा रखी है। लेकिन अधिकारी रोजगार मुहैया नहीं करा रहे हैं। जिसके चलते परिवार का जीवन यापन करना भी मुश्किल हो रहा है।

3 महीने से पंचायत मुख्यालय पर नहीं मिलते ग्राम विकास अधिकारी श्रमिकों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए बताया कि आखिर हमारी समस्या किस के सामने जाकर बतावे, ग्राम पंचायत मुख्यालय पर कार्यरत ग्राम विकास अधिकारी मनमोहित मीणा विगत 3 महीने से ग्राम पंचायत मुख्यालय पर नहीं बैठ रहे हैं। जिसके चलते ना तो रोजगार नहीं मिलने की शिकायत कर पा रहे हैं और ना ही अपने पंचायत राज संबंधी कार्य करवा पा रहे हैं रोजाना ग्राम पंचायत मुख्यालय पर जाकर ग्राम विकास अधिकारी की आने की बाट जोहकर कर वापिस दोपहर को घर लौटना पड़ रहा है। आखिरकार हमारी समस्या किसे बताएं और कैसे हो समाधान सरकार के दावे केवल औपचारिक बनते नजर आ रहे हैं ।

खबरें और भी हैं...