पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना का असर:कूंचलवाड़ा की बीजासण माताजी के साथ अब चांदली की हिंगलाज मातेश्वरी के भक्तों को दर्शन नहीं होंगे

देवली6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • घर-घर में हुई घट स्थापना

कूंचलवाड़ा की बीजासण माताजी के बाद अब श्रद्धालुओं को चांदली की हिंगलाज मातेश्वरी के भी दर्शन नहीं देगी। शनिवार की प्रातः मातेश्वरी की आरती के बाद समिति ने मंदिर के दोनों मुख्य द्वार पर ताले लगा दिए हैं। इसी के साथ पूरे मंदिर परिसर को खाली करवा कर वहां स्थित दुकानों को भी बंद करवा दिया है। ऐसा इसलिए किया गया है कि नवरात्रा में भीड़ एकत्र ना हो और कोरोना महामारी से बचा जा सके।राज्य के गृह मंत्रालय के आदेशानुसार ग्रामीण क्षेत्रों में धार्मिक स्थलों को 7 सितम्बर से खोले जाने का निर्णय लिया गया था। परन्तु मानव जीवन की सुरक्षा को सर्वोपरी रखते हुए एवं कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से बचाव के लिए कुचलवाड़ा की बीजासन माता जी के शुक्रवार को हनुमान नगर की पुलिस एडवाइजरी के बाद पट पूर्णतया बंद कर दिए हैं। इसी तरह चांदली माताजी विकास समिति ट्रस्ट ने भी शनिवार की सुबह आरती के बाद मातेश्वरी के मंदिर को पूर्ण रूप से बंद करने का निर्णय लिया है। जिसके चलते मंदिर के दोनों मुख्य द्वारों को ताला लगा कर बंद कर दिया है। जिसके चलते अब श्रद्धालुओं को नवरात्रा में दोनों प्रमुख एवं विख्यात शक्तिपीठों पर दर्शन लाभ अर्जित नहीं होंगे और ना ही किसी प्रकार के आयोजन प्रयोजन आयोजित हो पाएंगे। मंदिर समिति के अध्यक्ष मिश्री लाल मीणा एवं सदस्य छीतर लाल डागर ने श्रद्धालुओं से अपील की है कि वे अपने घर पर ही मातेश्वरी की पूजा अर्चना करें। वही इस दौरान मन्दिर परिसर स्थल में किसी भी प्रकार के मेले, धार्मिक आयोजनों एवं जुलूस पर पूर्णतया प्रतिबंध रहेगा। शनिवार को शारदीय नवरात्र का शुभारंभ घर घर में घट स्थापना के साथ हो गया।मालपुरा| सिंधोलिया माताजी मंदिर में घट स्थापना के साथ पूजा के कार्यक्रम हुए।मां शैलपुत्री की पूजामोर/ वनस्थली | कस्बा सहित ग्रामीण क्षेत्र में शारदीय नवरात्रा स्थापना के अवसर पर मंदिरों व घर-घर में घट स्थापना की गई। प्रथम दिन मां शैलपूत्री के श्रृंगार की पूजा की गई। मंदिरों में रामचरित मानस पाठ, सुंदरकाण्ड, हनुमान चालिसा पाठ सहित दुर्गा उपासकों ने दुर्गा शप्तशती व अन्य धार्मिक अनुष्ठान आरंभ किए। धार्मिक अनुष्ठानोंकी रही धूमनिवाई| शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में शनिवार को शारदीय नवरात्रा को लेकर घर-घर में विधिवत पूजा अर्चना कर घट स्थापना की गई। शनिवार को मां दुर्गा की पहली स्वरूपा शैलपुत्री की श्रद्घालुओं ने विधिवत पूजा अर्चना की। घट स्थापना को लेकर शनिवार सुबह से ही शुभ मुहूर्त के अनुरूप सभी मंदिरों व घरों में धार्मिक अनुष्ठानों की धूम मची रही। कंकाली माता मंदिर में श्रद्धालुओं द्वारा मां काली की विधिवत पूजा अर्चना कर घट स्थापना की गई। घट स्थापना करके श्रद्धालुओं ने माता के दर्शन किए। इसी प्रकार संतोषी माता, बावड़ी वाले बालाजी, परमहंस आश्रम, कुंजबिहारी आश्रम, दादू दयाल आश्रम, जमात बालाजी सहित सभी मंदिरों व घरों में मंत्रोचारण के साथ घट स्थापना की गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें