51 कुंडीय श्रीराम मारुतिनंदन महायज्ञ का हुआ आयोजन:यजमानों ने दी हवन कुंड में आहुतियां, रामलीला का हुआ मंचन, सर्वाधिक बोली लगी प्रधान हवन कुंड की

दूदू4 महीने पहले

दूदू क्षेत्र के लोरडी-छापरी गांव की सीमा पर 4 गांवों के ग्रामीणों के जन सहयोग से 9 दिवसीय 51 कुंडीय श्रीराम मारुतिनंदन महायज्ञ का आयोजन हुआ। यज्ञाचार्य श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर महंत रामप्रियदास महाराज के चल रहे महायज्ञ में शनिवार रात्रि को कलाकारों द्वारा रामलीला का मंचन किया गया। जिसमें भगवान राम और लक्ष्मण ने जनकपुरी में प्रवेश किया।

यजमानों ने दी हवन कुंडों में आहुतियां
वहीं रविवार को सुबह पंडित विष्णु भारद्वाज द्वारा मंत्रोच्चार के साथ यज्ञ शाला के हवन कुंडों में आहुतियां दिलवाई गई। यज्ञ में कथा वाचक अनुराग ज्योति द्वारा श्रीमद् भागवत कथा में भगवान श्री कृष्ण के जीवन का प्रसंग सुनाया। यज्ञ को देखने के लिए हजारों की तादाद में ग्रामीण और श्रोता यज्ञ देखने के लिए पहुंच रहे हैं। यज्ञ में हरिद्वार,मथुरा,वृंदावन सहित अनेक जगहों से साधु संतों का समागम यज्ञ स्थल पर नजर आ रहा है। यज्ञ के दौरान भंडारे का आयोजन भी जन सहयोग से किया जा रहा है। यज्ञ में लोरडी, छापरी, रसीली,सवाईमानसिंहपूरा गांवों के ग्रामीणों के सहयोग से यज्ञ का संचालन किया जा रहा है।

सर्वाधिक बोली लगी प्रधान हवन कुंड की

यज्ञ के दौरान प्रधान हवन कुंड की 2 लाख 51 हजार की सर्वाधिक बोली लोरडी गांव निवासी लादू राम रियाड़ ने लगाई। जिसके बाद प्रधान हवन कुंड सहित अन्य हवन कुंडों आहुतियां मंत्रो के साथ दिलवाई गई।

खबरें और भी हैं...