पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बेखौफ बजरी परिवहन:बजरी लूट में जिले के 4 थानों की मिलीभगत : एसआईटी

सवाई माधोपुर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बनास नदी में बजरी का खनन केवल टोंक व सवाई माधोपुर जिले की सीमा में ही होता है

जिले की सीमा में बह रही बनास नदी में अवैध बजरी खनन पर रोक लगाने के बजाय पुलिस खुद बजरी माफिया की बेल को सींच रही है। इसीका नतीजा है कि जिले की सड़कों पर सुबह-शाम बजरी से ओवरलोड भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली दौड़ रहे है। जिले में चल रहे बजरी के अवैध खनन व परिवहन के खेल में पुलिस की मिलीभगत पर खुद एसआईटी की टीम मुहर लगा चुकी है।

इसके बावजूद जिले में पुलिस तंत्र बजरी के अवैध खनन व परिवहन पर रोक लगाने के प्रति उदासीन रवैया अपनाए हुए बैठा है। खासबात यह है कि, जब भी जिले में बजरी के अवैध खनन व परिवहन पर रोकथाम की बात आती है तो पुलिस महकमें के अधिकारी इसे खनन विभाग की जिम्मेदारी बताते पल्लू झाड़ लेते है।

जबकि बजरी का परिवहन तो मुख्य मार्गो से ही होता है। जब भी जिले में बड़े नेता या उच्च अधिकारी का तो दौरा होता है। उस समय जिले की सड़कों पर एक भी बजरी का वाहन नजर नहीं आता। यह भी पुलिस व बजरी माफिया के बीच आपसी तालमेल होना दर्शाता है।

रोकथाम के प्रति जिले के पुलिस तंत्र की ज्यादा जवाबदेही
एसआईटी की जांच अवैध बजरी खनन, ढुलाई व खरीद फरोख्त में बजरी माफिया से 5 जिलों के दो एसपी, 3 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व 30 थानों के मुखियाओं की सांठगांठ सामने आई है। लेकिन खास बात यह है कि बनास नदी में बजरी का खनन केवल टोंक व सवाई माधोपुर जिले की सीमा में ही होता है। अन्य 3 जिलों की सीमा में तो केवल बजरी का परिवहन होता है। ऐसे में जिले में चल रहे बजरी के अवैध खनन व परिवहन पर रोकथाम के प्रति सवाई माधोपुर के पुलिस महकमें की ज्यादा जवाबदेही बनती है।
बजरी खनन के पॉइंट व सप्लाई क्षेत्र

खंडार क्षेत्र के बनास नदी में होने वाले बजरी खनन की सप्लाई मध्यप्रदेश के श्याेपुर सहित कोटा जिले के इटावा- खातौली क्षेत्र तक होती है। खासबात यह है कि खंडार क्षेत्र के बनास नदी से बजरी लेकर आने वाले वाहन बहरावंडा खुर्द थाने के पास से निकलते है। चौथ का बरवाड़ा व मलारना डूंगर क्षेत्र में बनास नदी से निकलने वाली बजरी सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय सहित टोंक व जयपुर के साथ दोसा वह करौली जिले में सप्लाई होती है।

जिले में इन 4 थाना पुलिस की मिलीभगत
एसआईटी टीम की जांच में 5 जिलों में से सवाई माधोपुर जिले के 4 थाना पुलिस की मिलीभगत ज्यादा सामने आई है। इनमें बाटोदा, मलारना डूंगर, भाड़ौती व बहरावंडा खुर्द थाना पुलिस शामिल है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें