लॉक डाउन का असर / 120 साल के इतिहास में कभी बंद नहीं हुआ गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन, कोरोना ने कराया

सूना पड़ा गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन। सूना पड़ा गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन।
X
सूना पड़ा गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन।सूना पड़ा गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन।

  • कोरोना संक्रमण की आशंका के चलते ट्रेने हैं बंद, 1974 में हुई रेलवे की सबसे बड़ी हड़ताल में भी बंद नहीं हुई थी पूरी सवारी गाडिय़ां
  • स्टेशन के मुख्य द्वार पर कहीं नहीं होता है दरवाजा, क्योंकि किसी ने सोचा ही नहीं होगा कि रेल कभी ऐसे भी बंद होगी

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 01:54 AM IST

गंगापुर सिटी (इकबाल गुड्डी). कोरोना वायरस के संक्रमण से आमजन को बचाने के लिए हर कदम उठाया जा रहा है। देशभर में लॉक डाउन किया जा चुका है। सार्वजनिक व निजी वाहन पूरी तरह बंद हो चुके हैं। और 120 साल के गंगापुर के रेल इतिहास में पहली बार रेलवे स्टेशन के मुख्यद्वार को टीन लगाकर पूरी तरह से बंद किया जा चुका है। कोरोना के चलते सभी सवारी ट्रेन पहले 31 मार्च और अब 14 अप्रैल तक बंद करने के बाद रेलवे ने यात्रियों के लिए स्टेशन को पूरी तरह बंद कर दिया। 

1974 की महा हड़ताल में भी ऐसा नहीं हुआ था
रेलवे सूत्रों के अनुसार 1974 में रेलवे की हड़ताल हुई थी। तब कई सवारी गाडिय़ां बंद करना पड़ी थी। तब भी ऐसी स्थिति नहीं थी। सरकार ने किसी ने किसी तरीके से कई ट्रेनों को चालू रखा था। हड़ताल के दौरान एक संगठन ने काम जारी रखा था। उस संगठन को तब की केन्द्र सरकार ने कई फायदे भी दिए। इसलिए पूरी तरह से लॉकडाउन नहीं हो पाया था। अब जो हो रहा है वह अभूतपूर्व स्थिति है।

रेलवे को करोड़ों का घाटा
पूरे देश में 31 मार्च तक ट्रेने बंद होने से गंगापुर सिटी-कोटा रेलमार्ग स्थित रेलवे स्टेशनों पर आय बंद होने से रेलवे को करोड़ों का घाटा हो रहा है। साथ ही लोगों को यातायात के साधन भी नहीं मिल रहे हैं। जो जहां है वो वहीं अटक गया है। इसके साथ ही रोडवेज बसों को भी बंद कर दिया गया है। इससे लोगों को परेशानी भी उठानी पड़ रही है। संकट की इस घड़ी में सभी धैर्य से काम ले रहे हैं और सरकारी आदेशों की पालना कर रहे हैं। जिस प्रकार रेलवे ने ट्रेनें बंद की हैं, उससे लोगों को यह लग रहा है कि यह समस्या और बढ़ सकती है।

इतनी मालगाड़ी चलीं

22 मार्च को 44
23 मार्च को  41
24 मार्च को 38
25 मार्च को 33

   

रेलवे आरक्षण कार्यालय एवं बुकिंग भी सील
गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन के मुख्य द्वार को सील करने के बाद अब रेलवे आरक्षण कार्यालय व बुकिंग को भी रेलवे प्रशासन ने सील कर दिया है। वही रेलवे लॉबी के पास एक इंजन को आपात कालीन स्थिति के लिए खड़ा किया गया है और इसे भी रेलवे लॉबी के सीटीसीसी (टीआरओ) ने बुधवार सुबह सील अग्रिम आदेश तक सीज कर दिया गया है ताकि बहुत आपात स्थिति होने पर इसका इस्तेमाल किया जा सके।

तीन दिन में कम हो गया मालगाड़ी परिचालन
संक्रमण को रोकने के लिए एक तरफ जहां रेलवे ने यात्री ट्रेनों को पूरी तरह से बंद कर दिया है, वहीं तीन दिनों में मालगाडिय़ों का परिचालन भी हर दिन कम होता जा रहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना