चूहे मारने की दवा खाई:पत्नी के नहीं आने पर पति ने खाई चूहे मारने की दवा

गंगापुर सिटीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डोब गांव में पत्नी के साथ नहीं चलने पर पति ने चूहे मारने की दवा खा ली, जिससे वह अचेत हो गया। बाद में उसे अस्पताल में लाया गया, जहां से चिकित्सकों ने उसे जयपुर रेफर कर दिया गया। वजीरपुर थाना प्रभारी योगेन्द्र कुमार शर्मा ने बताया कि डोब गांव के जितेंद्र नामक युवक की शादी डेढ़ साल पहले बाटोदा गांव की मिथलेश से हुई थी। 1 साल तक पति-पत्नी के संबंध अच्छे थे, लेकिन बाद में पति जितेंद्र अपनी पत्नी मिथलेश के साथ मारपीट करने लगा। मारपीट से परेशान होकर पत्नी ने पति के खिलाफ वजीरपुर थाने में दहेज मांगने का आरोप लगाते हुए मामले की शिकायत दी। 3 दिन पहले जितेंद्र ने पत्नी के साथ मारपीट कर दी, जिससे वह परेशान होकर अपने जीजा के घर चले गई। जितेन्द्र सोमवार शाम पत्नी को लेने साढू के घर गया, लेकिन पत्नी ने उसके साथ जाने से मना कर दिया। इस पर पति ने चूहे मारने की दवा खा ली। गंभीर हालत में उसे जयपुर रेफर किया गया।

खबरें और भी हैं...