पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ट्रेनों की स्पीड 160 किमी. प्रति घंटे होगी:रेलवे लाइनाें में लगाए जा रहे थिक वेव स्विच, पाॅइंट बदलने पर यात्रियों को नहीं लगेगा झटका

गंगापुर सिटी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ट्रेनों की स्पीड 130 से बढ़ाकर 160 किमी प्रति घंटे करने के लिए पश्चिम मध्य रेलवे ने रेल लाइनों में सामान्य पॉइंट की जगह थिक वेक स्विच लगाना शुरु कर दिया है। इसके लगने के बाद यात्रा आरामदायक होगी क्योंकि ट्रेनों के पॉइंट बदलने के समय अब यात्रियों को झटका नहीं लगेगा। गंगापुर सिटी में इस तरह के कुछ पॉइंट प्रायोगिक तौर पर लगाने के लिए भेजे गए थे। वर्तमान में अभियान चलाकर प्रथम मेन अप व डाउन रेलवे लाइन लगाए जा रहे हैं।

गंगापुर सिटी की ए केबिन व छोटी उदेई तक पूरे हो चुके हैं। तीसरे चरण में गंगापुर सिटी के बी केबिन पर ये स्विच लगाए जाएंगे। इसके अलावा कोटा में भी इस तरह के कुछ पॉइंट प्रायोगिक तौर पर लगाने के लिए भेजे गए है। रेलवे बोर्ड ने बीते वर्ष में पश्चिम मध्य रेलवे की 150 थिक वेव स्विच लगाने का लक्ष्य दिया था, लेकिन पश्चिम मध्य रेल ने अप्रैल 2020 से मार्च 2021 तक लक्ष्य से लगभग डेढ़ गुना 220 थिक वेव स्विच लगाकर एक कीर्तिमान स्थापित किया है।

यह कार्य अधिकतर मुख्य रेल लाइनों पर किया गया। तीनों मंडलों में यह कार्य स्वीकृत है और मुख्य ग्रुप के मार्गों पर प्राथमिकता देते हुए इस कार्य को किया जा रहा है। भविष्य में गति और सुरक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण सिद्ध होगा पश्चिम मध्य रेल द्वारा इस कार्य को तीव्र गति से किया जा रहा है। इससे गाडिय़ों की स्पीड को बढ़ाया जा सकेगा। पश्चिम मध्य रेल में अभी तक मेल एक्सप्रेस गाडिय़ों की अधिकतम स्पीड 130 व 110 किमी प्रति घंटा थी।

स्विच लगाने के यह होंगे फायदे: भारी मालगाडिय़ों के भार को सहने की इनमें अधिक क्षमता है वहीं सामान्य पॉइंट की तुलना में थिक वेव की विश्वसनीयता अधिक है। सुरक्षा की दृष्टि से सामान्य स्विच की तुलना में अधिक सुरक्षित है। लगभग 3 गुना मंहगा होने के बावजूद नई रेल लाइनों में लगाया जा रहा है जो सुरक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। सामान्य स्विच की तुलना में थिक वेव स्विच का जीवन 3 गुना अधिक होता है। साथ ही इसका रखरखाव बहुत ही कम करना पड़ता है।

लोको पायलट व गार्डों को अब नहीं ले जाने होंगे भारी बॉक्स: अब लोको पायलटों, सहायक लोको पायलट व ट्रेन के गार्डों को ड्यूटी पर भारी भरकम लाइन बॉक्स लाने ले जाने से मुक्ति मिलेगी। अब इंजन में कॉमन लाइन बॉक्स फिट किए जा रहे हैं। कोटा रेल मंडल की कोटा-निजामुद्दीन, निजामुद्दीन-कोटा जनशताब्दी एक्सप्रेस में परमानेट लाइन बॉक्स फिट किए गए हैं। वही सीनियर डीसीएम अजय कुमार पाल ने बताया कि इन लाइन बॉक्स में ड्यूटी दौरान काम आने वाले उपकरण रखे जाएंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

    और पढ़ें