मेले का आयोजन:नागल कोजू में गूंजेंगे शीतला माता के जयकारे, तीन साल बाद लगेगा मेला

गोविंदगढ़ (जयपुर)3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोविंदगढ़ के नागलकोजू गांव में शीतला माता मेले का आयोजन किया जा रहा है। हर साल आयोजित होने वाला मेला कोरोना महामारी के चलते अब की बार 3 साल बाद आयोजित हो रहा है। मंदिर पुजारी शंकर लाल प्रजापति ने बताया कि यहां के लिए ये मेला आस्था, श्रद्धा, सेवा व विश्वास का सबसे बड़ा संगम है।

मेले में शीतला माता का मंदिर माता रानी की भव्य मूर्ति, झूझार जी मंदिर, पहले दिन होने वाला रात्री जागरण व दूर दराज से आए हुए हजारों श्रद्धालु मेले की शोभा बढ़ाते हैं। साथ ही चेचक, छोटी माता, बड़ी माता व भार पशु में होने वाली बीमारी से निजात पाने व भविष्य में इसी बीमारियों का प्रकोप ना हो इसके लिए श्रद्धाल मन्नतें मांगते हैं।

मूर्ति का प्रकट होना व मेले का आयोजन कब से हो रहा है। इसका कोई प्रामाणिक उल्लेख तो नहीं है, लेकिन कहा जाता है कि कुएं खुदाई के दौरान मूर्ति का प्रकट होना और खुद माता ने ही अपने भक्त को सपने में ज्येष्ठ माह कृष्ण अष्टमी को मेले के आयोजन के लिए कहा था। तब से समस्त ग्राम जनता व मंदिर कमेटी द्वारा मेले का आयोजन प्रतिवर्ष बड़े ही धूमधाम से किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...