पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डढै़र खेलने की परंपरा:करणपुर क्षेत्र में डढै़र खेलने की परंपरा निभा रहे

हिन्डौन15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

करणपुर गांवों की पुरानी परंपरा का खेल जिसे ग्रामीण लोग डढैर डांडिया (गरबा) के नाम से जानते हंै लोक गीतों के साथ सांस्कृतिक परंपरा से खेले जाने वाले आदिवासी खेल डांडिया (डढैर) लोक गीतों के साथ टोडा गांव के लोगों ने बीते दिवस खिरकन, सिमारा, टोडा सहित कई गांवों में कलाकारों की टोली बनाकर अपने खेल की झलक दिखाई। टोडा गांव के लोगों ने डढैर (डांडिया) खेलने के लिए मीडिया रामनिवास मीना के नेतृत्व मंे रविवार को सपोटरा की बरवासन देवी पर भी टीम ने भाग लिया और टोडा निवासी परसराम मीना व जगन्नाथ मीना की ढोलक की थाप पर लकड़ी के डांडियों से पैरों मंे घुंघरू बांधकर शानदार प्रस्तुती दी।

खबरें और भी हैं...