जवान का निधन:जवान के निधन से आंखें हुई नम, सैन्य सम्मान के साथ हुई अंत्येष्टि

करौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महूइब्राहिमपुर। पार्थिव देह पर पुष्प चक्र अर्पित करते गणमान्य लोग। - Dainik Bhaskar
महूइब्राहिमपुर। पार्थिव देह पर पुष्प चक्र अर्पित करते गणमान्य लोग।
  • महूदलालपुर के सुरेन्द्र सिंह सोलंकी का अरुणाचल के अलंगा में डयूटी के दौरान बीमार होने पर 12 दिसंबर को हो गया था निधन, पार्थिक देह गांव आने पर अंतिम दर्शनों को उमड़ा पूरा गांव

महूदलालपुर निवासी सेना के जवान सुरेन्द्र सिंह सोलंकी के निधन पर मंगलवार को सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उनके अंतिम दर्शनों के लिए हजारों की संख्या में ग्रामीण उपस्थित हुए। सेना के जवानों ने तीन राउंड फायर कर सलामी दी। 17 वर्षीय बड़े बेटे यशवेन्द्र सोलंकी ने मुखाग्नि दी तो सबकी आंखें नम हो गई। सेना के जवानों की ओर से जब पार्थिक देह को मंगलवार को पैतृक गांव लाया गया तो पूरा गांव शहीद सुरेन्द्र सिंह सोलंकी अमर रहे के जयकारों से गूंज उठा। पुलिस-प्रशासन के अलावा जनप्रतिनिधियों ने पार्थिक देह पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।
2001 में सेना में भर्ती हुए थे सुरेन्द्र सिंह:
सुरेन्द्र के बड़े भाई जगपाल सिंह ने बताया कि छोटा भाई सुरेन्द्र सिंह सोलंकी 2001 में भारत तिब्बत सीमा पुलिस में चयन हुआ था। वर्तमान में अरुणाचल प्रदेश के अलंगा में डयूटी पर कार्यरत थे। डयूटी के दौरान अचानक तबीयत बिगड़ जाने पर 12 दिसंबर को सुरेन्द्र की मौत हो गई। सुरेन्द्र सिंह की शादी 1995 में श्यारौली की अनीता के साथ हुई थी। सुरेन्द्र के दो पुत्र व दो पुत्री हैं। छोटा भाई अरुण सिंह राजस्थान पुलिस में है।

खबरें और भी हैं...