पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

झोलाछाप के भरोसे मरीजों की जान:महामारी में झोलाछाप के भरोसे मरीजों की जान

हिन्डौनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

महमदपुर एक तरफ कोरोना संक्रमण से लोगों की जान मुश्किल में है तो दूसरी तरफ कोरोना संक्रमण का लाभ उठाते हुए झोलाछाप लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे हैं। कोरोना महामारी के इस दौर में गांव महमदपुर जगदीशपुरा,मुंडियां में झोलाछाप चिकित्सकों के यहां सुबह से शाम तक मरीजों व उनके तीमारदारों की भीड़ लग रही है।इधर, कुछ दवा विक्रेता भी खुद डॉक्टर बन गए हैं, जो कि मरीजों को उनकी बीमारी पूछकर दवा बेच रहे हैं। झोलाछापों के इलाज से लोग ठीक होने की बजाय बीमारी को और बढ़ावा दे रहे हैं। इस तरफ शासन प्रशासन का भी कोई ध्यान नहीं है, जबकि यह झोलाछाप डॉक्टर कोरोना की चेन को बढ़ावा दे सकते हैं।

यह झोलाछाप बिना डिग्री और डिप्लोमा के ही लोगों का इलाज कर उनकी जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। कोरोना जैसी महामारी के समय भी यह बाज नहीं आ रहे हैं। यह न तो अपनी सुरक्षा कर रहे हैं और न ही इलाज कराने वाले लोगों की। इलाज करने के दौरान चाहे किसी भी तरह की बीमारी से पीड़ित मरीज हो, सबका इलाज किया जा रहा है।

सरकारी अस्पतालों में ओपीडी बंद होने और कोरोना संक्रमण की वजह से झोलाछाप पूरा फायदा उठा रहे हैं। रोजाना सैकड़ों की संख्या में इनके द्वारा मरीज देखे जा रहे हैं। यह झोलाछाप चिकित्सक एक के बाद एक मरीजों को देख रहे हैं। इससे कोरोना संक्रमण कभी भी तेजी से फैल सकता है। इन गांवों में झोलाछाप पनप रहे हैं, जो कि कोरोना संक्रमण को बढ़ावा दे रहे है इन पर जल्द ही प्रशासन के साथ कार्यवाही की जाएगी। -देवीसहाय मीना, ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी, टोडाभीम

खबरें और भी हैं...