आक्रोश - जेल में मौत:जेल में मौत पर युवक का तीसरे दिन भी अंतिम संस्कार नहीं, प्रदर्शन

करौली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिंडौन सिटी| तीसरे दिन हिंडौन के एसडीएम कोर्ट के सामने धरना दिया गया। मौके पर जमा लोग। - Dainik Bhaskar
हिंडौन सिटी| तीसरे दिन हिंडौन के एसडीएम कोर्ट के सामने धरना दिया गया। मौके पर जमा लोग।
  • जिला जेल में तीन दिन पहले हिंडौन निवासी युवक की संदिग्ध मौत हुई थी, दोषियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं परिजन

जिला जेल में तीन दिन पहले मरने वाले मुकेश अवस्थी का मंगलवार को भी अंतिम संस्कार नहीं हुआ। परिजन मौत को संदिग्ध बता रहे हैं। उन्होंने देर शाम तक मुकेश का अंतिम संस्कार नहीं किया। मृतक के पिता का कहना है कि जब तक दोषियों की गिरफ्तारी नहीं होगी और उनकी मांगों को लिखित में पूरा करने का आश्वासन नहीं दिया जाएगा, तब तक शव का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। ऐसे में मृतक के घर के बाहर पांच थानों की पुलिस के जवान तैनात रहे। दूसरी ओर भाजपा जिलाध्यक्ष बृजलाल डिकोलिया के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने मृतक के परिवार को न्याय दिलाने की मांग को लेकर एसडीएम कार्यालय के सामने धरना दिया। भाजपा और ब्राह्मण समाज के लोगों ने एसडीएम को ज्ञापन देकर मामले की सीबीआई से जांच की मांग की है।

पिता का आरोप-पुलिस प्रशासन ने दबाव बनाकर जबरन शव सौंपा

रविवार को जेल में मुकेश की मौत होने पर परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए करौली से सोमवार रात तक शव नहीं लिया था। परिजनों की मांग पर नई मंडी थानाप्रभारी सहित 8 जनों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया और मंगलवार सुबह करौली अस्पताल में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया, लेकिन परिजन शव को हिंडौन स्थित घर ले आए और दाह संस्कार नहीं किया। पिता भूदेव अवस्थी ने कार्रवाई की मांग की है।

सीबीआई से जांच की मांग: अखिल भारतीय ब्राह्मण परिषद के जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष कमलेश पाराशर, सूरौठ तहसील अध्यक्ष प्रमोद तिवाड़ी, अंतरराष्ट्रीय ब्राह्मण महासंस्था के प्रदेशाध्यक्ष महेश तिवाड़ी, ब्राह्मण समाज गंगापुर के अध्यक्ष रामेश्वर पुजारी, उपाध्यक्ष महेश उपाध्याय, कोषाध्यक्ष डॉ. मनोज शर्मा सहित अन्य संगठनों ने सीबीआई जांच, दोषी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करने, झूठे मुकदमों को खारिज करने, 50 लाख की सहायता, नौकरी की मांग की है।

खबरें और भी हैं...