डेंगू का प्रकोप:हिंडौन शहर की 8 कॉलोनियों में डेंगू के 10 मरीज मिले,चिकित्सा विभाग ने कराई फोगिंग

करौली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिंंडौनसिटी| राजकीय अस्पताल में मौसमी बीमारियों से पीडि़त शिशु भर्ती। - Dainik Bhaskar
हिंंडौनसिटी| राजकीय अस्पताल में मौसमी बीमारियों से पीडि़त शिशु भर्ती।
  • खेड़ी हैवत में 150 घरों का किया सर्वे, तीसरे दिन 87 मरीजों का किया उपचार

क्षेत्र में पैर पसार रहे डेंगू की रोकथाम के लिए चिकित्सा विभाग अलर्ट मोड़ पर आ गया है। जहां-जहां डेंगू मरीज ज्यादा निकल रहे हैं, वहां चिकित्सा टीम भेजकर उपचार कराया जा रहा है और फोगिंग करवाने का कार्य शुरु कर दिया गया है। हिंडौन की 8 कॉलोनियों में 10 डेंगू मरीज निकलने के बाद इन कॉलोनियों में फोगिंग करवाई गई हैं।

इसके अलावा खेड़ी हैवत में 10 डेंगू पॉजिटिव निकलने और 300 से अधिक बुखार पीड़ित होने के कारण तीन दिनों से चिकित्सा टीम गांव में ही डेरा डाले हुए हैं। बुधवार को भी चिकित्सा टीम ने 87 मरीजों का उपचार किया गया और 30 मरीजों में डेंगू की संभावना के देखते हुए सीबीसी कराने के लिए शेरपुर के अस्पताल भेजा गया।डेंगू की बढ़ रही रफ्तार ने जहां चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को चिंता में डाल दिया है, वहीं लोगों में भी भय का वातावरण बना हुआ है। दूसरी ओर खेड़ी हैवत में फैली बीमारी के बावजूद दो दिनों से रातभर बिजली गुल होने पर ग्रामीणों ने प्रदर्शन कर नाराजगी का इजहार किया है।चिकित्सा विभाग ने भी कॉलोनियों में फोगिंग कराकर मरीजों के रक्त नमूने लेकर उपचार शुरु करवा दिया है।

शहर की अग्रसेन कॉलोनी में एक डेंगू मरीज, आनंद विहार कॉलोनी में दो, कैलाशनगर में एक, मोहननगर में दो, जाटव बस्ती में एक, केशव विद्या मंदिर के पास एक, प्रहलादकुंड के पास एक, वर्धमाननगर में एक डेंगू मरीज निकला हैं। अस्पताल रिकॉर्ड के अनुसार 17 सितंबर से अब तक उपखंड क्षेत्र में 75 डेंगू मरीज निकले हैं। जिनका उपचार किया जा रहा है।30 मरीजों की ब्लड स्लाइड लीखेड़ीहैवत में फैले वायरल के कारण घर-घर में बीमारों की चारपाई बिछी हुई हैं। गांव में 10 डेंगू रोगी मिल चुके हैं और टीम ने एक दिन पहले तक 200 से अधिक वायरल पीड़ितों का उपचार किया था।

इसके बाद बुधवार को भी चिकित्सा टीम ने 150 घरों का सर्वे कर 87 मरीजों का उपचार किया। डॉ. धर्मेंद्र डागुर के नेतृत्व में एएनएम वीणा सहित चार सीएचए एवं दो आशा सहयोगिनियों की टीम ने तीन दिन में गांव के हर घर तक पहुंचकर सर्वे का काम पूरा कर दिया। इस दौरान चिकित्सा विभाग की टीम बीमार मरीजों की जांच कर उपचार कर रही है और आवश्यक परामर्श दे रही है।डागुर ने बताया कि बुधवार को सर्वे के आखिरी दिन 150 घरों तक चिकित्सा विभाग की टीम पहुंची जहां 45 पानी की टंकी, कूलर को खाली करवाया गया, वहीं 30 मरीजों की स्लाइड लेकर जांच करवाई। इस दौरान एक मरीज को सीबीसी करवाने के लिए रैफर भी कर दिया। वहीं 30 अन्य मरीजों को भी सीबीसी करवाने के लिए शेरपुर अस्पताल भेजा है।

चिकित्सा टीम के साथ जीवन ज्योति फाउंडेशन के ओमप्रकाश डागुर के कार्यकर्ताओं ने घर-घर बीमारों का सर्वे कराके मरीजों का उपचार कराया।सुचारू बिजली सप्लाई की मांगदो दिनों से रातभर एवं दिन में भी बिजली गुल होने को लेकर खेड़ी हैवत के ग्रामीणों ने प्रदर्शन कर नाराजगी का इजहार किया और अभियंताओं से गांव में सुचारु बिजली सप्लाई दिए जाने की मांग की है।प्रदर्शन करने वालों में ग्रामीण टीकाराम, संजय कुमार, कल्लाराम, इंदिरा सिंह, सुमरन सिंह, धन सिंह, अजय सिंह आदि शामिल रहे। बिजली गुल होने से पेयजल संकट भी बना हुआ है। दूरदराज से पानी लाने की मजबूरी बनी हुई है।

खबरें और भी हैं...