खुलासा:घर से 12 लाख के गहने चोरी में 2 आरोपी गिरफ्तार

करौली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • परशुराम खिड़किया बाहर आठ दिन पहले 10 किलो चांदी, जेवर व नकदी चोरी के दो आरोपी पकड़े

जिला मुख्यालय के परशुराम चिड़िया के बाहर एक घर से चोर 12 लाख के जेवरात सहित नकदी चुरा कर ले गए। इस मामले का कोतवाली थाना पुलिस ने 8 दिन में ही खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से पूछताछ कर माल बरामदगी के प्रयास में जुटी है।थानाधिकारी रामेश्वर दयाल ने बताया कि एसपी मृदुल कच्छावा, एएसपी प्रकाश चंद व डीएसपी मनराज के निर्देशन में टीम गठित कर चोरी के खुलासे का प्रयास किया गया। परशुराम खिड़किया बाहर निवासी सोहन लाल माली ने 21 सितंबर को घर में चोरों ने 10 किलो चांदी, स्वर्ण आभूषण और नकदी सहित करीब 12 लाख रुपए की चोरी की प्राथमिकी पेश की थी।

जिस पर शहर चौकी प्रभारी बृजराज शर्मा ने मामले की जांच पड़ताल की और दो लोगों को चिह्नित किया। पुलिस ने धर्मेंद्र पुत्र बृज लाल निवासी परसराम खिड़कियां करौली और धर्मेंद्र के रिश्ते में उसका जीजा तुलसीराम पुत्र राधेश्याम निवासी ट्रक यूनियन के पास गंगापुर सिटी को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। जिन्हें न्यायालय में पेश करने पर न्यायालय ने 3 दिन की पुलिस अभिरक्षा में भेज दिया है। पुलिस उनसे अन्य आरोपियों की पूछताछ व माल बरामदगी का प्रयास कर रही है।

कर्जा उतारने के लिए ताऊ के लड़के ने ही की चोरी

धर्मेंद्र उर्फ धर्मा पीड़ित सोहनलाल के ताऊ का लड़का है। धर्मेंद्र उर्फ धर्मा ने बताया कि उसके ऊपर कर्जा हो गया था। पैसे की आवश्यक के लिए वह गंगापुर तुलसीराम के पास गया था। जहां उसकी मुलाकात मुफीद व अन्य से हुई। सभी ने साथ मिलकर घटना को अंजाम देने का प्लान बनाया। उसके बाद 20 सितंबर की शाम को धर्मेंद्र ने तुलसीराम को फोन कर उन्हें करौली बुला लिया। सभी 20 सितंबर शाम 5:30 बजे बाद करौली पहुंच गए। धर्मेंद्र रात में घर की छत पर बैठकर पल-पल की खबर अन्य साथियों को देता रहा। घरवालों के सोने के बाद रात करीब 2 बजे चोरी को अंजाम दिया। घटना के बाद धर्मेंद्र घर पर ही रुक गया। जबकि अन्य वहां से फरार हो गए।

खबरें और भी हैं...