• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Karauli
  • 76 Hours After The Death Of The Prisoner, The Family Agreed To The Last Rites, The Father Had Made Seven Demands, The Administration Gave Written Consent To Five, Then There Was A Reconciliation

करौली जेल में बंदी की मौत का मामला:बंदी की जेल में मौत के 76 घंटे बाद परिजन अंतिम संस्कार को राजी, पिता ने रखी थी सात मांगें, प्रशासन ने पांच पर लिखित सहमति दी, तो हुई सुलह

करौली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिंडौन सिटी|शव को चौथे दिन अंतिम संस्कार के ले जाते परिजन व समाज के लोग। - Dainik Bhaskar
हिंडौन सिटी|शव को चौथे दिन अंतिम संस्कार के ले जाते परिजन व समाज के लोग।
  • चार दिन विभिन्न संगठन और जनप्रतिनिधि दे रहे थे धरना-प्रदर्शन

करौली जेल में हिंडौन के मुकेश अवस्थी की मौत के मामले का चौथे दिन बुधवार को पटाक्षेप हो गया। कलेक्टर सिद्धार्थ सिहाग व एसपी मृदुल कच्छावा की उपस्थिति में प्रतिनिधिमंडल के बीच हुई वार्ता में पांच मांगों पर सहमति बनने पर 76 घंटे बाद बुधवार शाम 6 बजे परिजन शव उठाने के लिए राजी हो गए। रविवार दोपहर करीब 2 बजे जेल में मुकेश अवस्थी की मौतहुई थी।

ब्राह्मण समाज सहित अन्य प्रमुख संगठनों की मौजूदगी में शव को पुष्पक विमान से मोक्षधाम ले जाकर अंतिम संस्कार किया गया। इससे पहले मृतक के घर के बाहर चल रहे धरना स्थल पर प्रमुख लोगों का जमघट लगा रहा। विप्र महासभा के सुनील उदेईया, ब्राह्मण समाज के अशोक शर्मा, वासुदेव शर्मा, पूर्व विधायक सुरेश मीना सहित प्रमुख लोगों ने धरने को संबोधित किया। पुलिस अधिकारी पूरी स्थिति पर निगरानी बनाए हुए थे। मृतक के घर के मार्ग पर अन्य वाहनों को रोकने के लिए पुलिस ने बेरिकेडिंग कर दी थी।

एसपी-कलेक्टर की उपस्थिति में प्रतिनिधिमंडल की वार्ता में चौथे दिन बनी मांगों पर सहमति, बुधवार शाम अंतिम संस्कार

ये रखी थी सात मांगें

1 सीबीआई से जांच कराई जाए। 2 फर्जी मुकदमे को वापस लिया जाए। 3 मुकेश अवस्थी को शहीद का दर्जा दिया जाए। 4 मुकेश अवस्थी का पोस्टमार्टम दोबारा जयपुर के चिकित्सकों से कराया जाए। 5 नई मंडी थाने के पुलिसकर्मियों को तत्काल निलंबित किया जाए। 6 उचित मुआवजा दिया जाए। 7 बेटे को सरकारी नौकरी दी जाए।

इन 5 मांगों पर बनी सहमति

1 कोतवाली में नामजद पुलिस कार्मिकों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई कर तत्काल थाने से हटाया जाएगा। 2 जांच में दोषी पाए जाने पर उन्हें निलंबित किया जाएगा। 3 पोस्टमार्टम रिपोर्ट और विसरा के संबंध में जिले के बाहर के विशेषज्ञों की राय करने के लिए न्यायिक जांच अधिकारी को याचिका प्रस्तुत की जाएगी। 4 पुलिस थाना कोतवाली करौली की निष्पक्ष जांच जिले के बाहर सीआईडी-सीबी जयपुर से कराई जाएगी। 5 न्यायिक जांच पूरी होने पर मुआवजे संबंधी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। पुलिस थाना नई मंडी में दर्ज एससी-एसटी मुकदमे की जांच एसपी के निर्देशन में करवाई जाएगी।

इन लोगों की मौजूदगी में हुई वार्ता : विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों में शामिल सुनील उदेईया, ओमेन्द्र सारस्वत, दीपेश मिश्रा, तरुण मुदगल, अभिषेक जैमिनी, महेश तिवाड़ी, अशोक शर्मा, वासुदेव शर्मा, टीसी व्यास, बालकृष्ण उपाध्याय, बलवीर चतुर्वेदी, नरेश गुर्जर, पूर्व विधायक सुरेश मीना, ओमप्रकाश मामू आदि ने कलेक्टर व एसपी से चर्चा की।

यूं चला घटनाक्रम 23 सितंबर को मुकेश अवस्थी की गिरफ्तारी। 24 को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। 26 को करौली जेल में मुकेश की मौत। 27 को नई मंडी थाने में थाना प्रभारी सहित 8 के खिलाफ केस। 28 को न्यायिक मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में पोस्टमार्टम। 29 सितंबर को वार्ता के बाद मामला खत्म।

खबरें और भी हैं...