पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पेयजल संकट:हिंडौन में पेयजल के लिए 82 करोड़ खर्च, फिर भी लोग प्यासे; जलदाय विभाग के कार्यालय पर प्रदर्शन

हिंडौन सिटी4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ज्यादा समस्या वार्ड 14 व 15 में, लोगों ने एसडीएम व जलदाय कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर अधिकारियों को बताई समस्या

दिनों दिन बढ़ रही गर्मी के साथ ही पेयजल संकट गहराता जा रहा है। शहर को पेयजल उपलब्ध कराने के लिए करीब 82 करोड़ की दो जलयोजनाओं के बावजूद अधिकतर वार्डों में पानी की समस्या बनी हुई है। करीब एक माह से पानी की समस्या झेल रहे वार्ड 14 व 15 के निवासी महिला-पुरुषों के सब्र का बांध गुरुवार को टूट गया। काफी लोग एकत्र होकर उपखंड कार्यालय व जलदाय विभाग के कार्यालय पर प्रदर्शन के बाद अधिकारियों को ज्ञापन दिया गया।

प्रदर्शन में शामिल पार्षद आशा देवी, महेश बेनीवाल, दिनेश एडवोकेट आदि ने बताया कि जलयोजनाओं पर करोड़ों का बजट खर्च करने के बावजूद अधिकतर वार्डों में पानी की समस्या बनी हुई हैं। जलयोजनाओं में भ्रष्टाचार की शिकायत मुख्यमंत्री से भी की जा चुकी है, लेकिन दोषी अभियंताओं एवं संवेदकों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। प्रदर्शन करने वालों में राजेंद्रकुमार, रमेश पाठक, भागमल, गोविंद,संतोष, शिवचरण, दिनेश, राकेश, दामोदर शर्मा, विजय कुमार, अजय कुमार, उछल कटारा, शिवचरण, सफेदी, गीता, कमला, राखी, सरोज, उषादेवी, राधा मोहन, दिलीप शर्मा शामिल रहे।

ज्ञापन में उल्लेख किया कि वार्ड 14 व 15 में एक माह से पानी की विकट समस्या बनी हुई है। इस ओर कोई ध्यान नहीं दिए जाने से लोगों में अधिकारियों की कार्यशैली के प्रति नाराजगी बनी हुई है। मांग की है कि दोनों ही वार्डों में व्याप्त पानी की समस्या का समाधान किया जाएगा, नहीं तो आंदोलन करने पर मजबूर होना पड़ेगा। 58 करोड़ की शहरी पुनर्गठित योजना का कार्य वर्ष 2013 में तथा 24 करोड़ की अमृत जलयोजना का कार्य वर्ष 2017 में शुरु हुआ था।

इन दोनों जलयोजनाओं के चालू होने के बावजूद शहरवासियों को पेयजल संकट का सामना करना पड़ रहा है। 24 करोड़ की अमृत जल योजना का कार्य 20 दिसंबर 2019 को पूरा होना था। इसके तहत वर्ष 2009 के बाद विकसित हुई कॉलोनियों व दशकों से पानी के लिए जूझ रहे ढाणियों के 18 हजार परिवारों को नल कनेक्शन दिए जाने थे। इसमें सौर ऊर्जा से संचालित 43 सिंगल फेज नलकूप व पटपरीपुरा में छह, तेली की पंसेरी रोड पर चार व महू गांव के पास गंभीर नदी के पेटे में दो थ्री फेज ट्यूबवैल खोदे जाने थे। इसके अलावा दो स्वच्छ जलाशयों (सीडब्ल्यूआर) का निर्माण होना था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

    और पढ़ें