पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विरोध-प्रदर्शन:पश्चिम बंगाल में हिंसक हमले के खिलाफ भाजपाइयों का विरोध-प्रदर्शन

करौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नादौती |  पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम के बाद हुई हिंसा के विरोध में प्रदशर्न भापजा कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
नादौती | पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम के बाद हुई हिंसा के विरोध में प्रदशर्न भापजा कार्यकर्ता।

पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हुए हिंसक हमले के विरोध में बुधवार को करौली जिला मुख्यालय पर भाजपा जिला महामंत्री एडवोकेट धीरेंद्र सिंह बैंसला के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने विरोध-प्रदर्शन किया। दरअसल, हाल ही बंगाल में हुए विस चुनाव के बाद टीएमसी की सत्ता वापसी के बाद हालात भयावह हो गए हैं। भाजपा के कार्यकर्ताओं को निशाने पर लेते हुए मारपीट,आगजनी की घटनाएं घटित हो रही हैं। इससे भाजपा पार्टी के आम कार्यकर्ताओं में आक्रोश व्याप्त है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ.सतीश पूनिया के नेतृत्व व संगठन के निर्देशानुसार पूरे राज्य में प्रत्येक जिला, मंडल व बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया है।

भाजपा नेता धीरेंद्र सिंह बैंसला ने कहा कि बंगाल में टीएमसी की ममता बनर्जी द्वारा जो लोकतंत्र का अपमान किया है,उससे पार्टी के हर कार्यकर्ता की भावनाएं आहत हुई है। बंगाल में कार्यकर्ताओं के घर में घुसकर मारपीट की गई है और करीब 16 लोगों की हत्या भी। जबकि,महिलाओं के साथ भी अभद्र व्यवहार किया है। इसके विरोध में जिला महामंत्री धीरेंद्र बैंसला के नेतृत्व में करौली शहर मंडल अध्यक्ष अनूप शर्मा, नगर परिषद प्रतिपक्ष नेता कुलदीप गुर्जर, जिला आईटी संयोजक राजेन्द्र शर्मा, जिला प्रभारी कोविड वीरेंद्र मित्तल, युवा मोर्चा के कृष्णा गुलपारिया, धारा चौधरी, वीरसिंह गुर्जर आदि ने कोरोना की गाइडलाइन की पालना करते हुए दो गज की दूरी के साथ काली पट्टी बांधकर विरोध-प्रदर्शन किया।

नादौती के कार्यकर्ताओं में आक्रोश

नादौती | भाजपा मंडल नादौती कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाल में चुनाव के परिणाम के बाद हुई हिंसा की घटना की कड़ी निंदा की तथा भाजपा मंडल नादौती अध्यक्ष सुमरनसिंह खेड़ला के नेतृत्व में काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन किया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने तृणमूल कांग्रेस पर हिंसा फैलाने का आरोप लगाया। मंडल अध्यक्ष खेड़ला ने कहा कि चुनाव परिणाम के बाद तृणमूल कांग्रेस ने हिंसा फैलाकर भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या करवाई है। जीत के लिए गरिमामयी तरीका होना चाहिए। जिस तरीके से हिंसा फैलाई गई अनुचित एवं निंदनीय है। सौरभ खटाना, सपना खटाना, सविता, हेमसिंह, दशरथसिंह, प्रथमसिंह, संजयसिंह, मुकेश फौजी, चैनसिंह पुष्पेन्द्र, हिम्मतसिंह, राहुल खटाना, हरवेन्द्रसिंह आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...