दहेज हत्या का आरोप:युवती की मौत पर ससुराल वालों के खिलाफ केस, दहेज के लिए हत्या करने का आरोप

करौली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीहर पक्ष के पहुंचे तो ससुराल पक्ष के लोग हुए फरार

गांव महस्वा में बुधवार को 20 वर्षीय विवाहिता की दहेज के लिए हत्या कर गुपचुप दाह संस्कार करने का मामला सामने आया है। सूचना पर जब पीहर पक्ष के लोग महस्वा पहुंचे तो घर में ससुराल पक्ष के लोग नहीं मिले। पीहर पक्ष के लोगों का आरोप रहा कि शादी के बाद से ही दहेज के लिए पति व अन्य ससुराल पक्ष के लोग विवाहिता को परेशान करते थे। उन्होंने कार व एक लाख रुपए की डिमांड की हुई थी।

उनकी मांग पूरी नहीं की तो बुधवार को विवाहिता की हत्या कर दी और उन्हें बताए बिना गुपचुप दाह संस्कार कर दिया। इस मामले में मृतका कैलाशी के पिता की ओर से श्रीमहावीरजी थाने में रिपोर्ट दी गई है। पुलिस मामले की जांच कर आरोपियों की तलाश कर रही हैं।फोन पर मारपीट की दी जानकारी श्रीमहावीरजी थानाप्रभारी धर्मसिंह गुर्जर ने बताया कि मासलपुर थानान्तर्गत गांव कसारा निवासी जगन्नाथ मीना ने रिपोर्ट देकर बताया कि उसकी दो पुत्री कैलाशी व विमलेश की शादी महस्वा के सुरजीत व लाला के साथ 30 जून, 2020 को हुई थी। शादी के बाद से ही दहेज की मांग को लेकर ससुराल पक्ष के लोग उसकी बेटियों को परेशान करने लगे। बेटियों से पीहर से एक कार व एक लाख रुपए लाने की मांग की जा रही थी। कुछ दिन पहले दोनों पुत्री पीहर भी आई थी, लेकिन दोनों को समझा बुझाकर ससुराल भेज दिया था।

बुधवार सुबह 9 कैलाशी का फोन आया कि दहेज की मांग को लेकर ससुराल पक्ष के लोग मारपीट कर रहे हैं और तुम जल्दी आ जाओ, नहीं तो ये लोग मुझे मार देंगे। यह कहकर फोन काट दिया। दोबारा फोन नहीं उठाया।गुपचुप कर दिया दाह संस्कारदहेज के लिए ससुराल पक्ष के उसकी बेटी कैलाशी की हत्या कर दी। इस बारे में उन्हें महस्वा के ही एक व्यक्ति का करीब 10 बजे फोन आया कि कैलाशी का गुपचुप दाह संस्कार कर दिया है। इस पर पीहर पक्ष के बद्री, समय, हरिपाल, अमृतलाल, राधे सहित कई लोग महस्वा पहुंचे तो कैलाशी का दाह संस्कार किया जा चुका था और ससुराल पक्ष के लोग घर से गायब थे। पति सुरजीत, देवर लाला, सास सुशीला पर हत्या करने का आरोप लगाया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

खबरें और भी हैं...