पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महंगाई की मार:धनिया 80 से 200, टमाटर 10 से 40 रुपए प्रति किलो पहुंचे

करौली4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आवक कम होने और तेज गर्मी के कारण एक माह में सब्जियों के भाव चार गुना बढ़े

बढ़ती महंगाई और तेज गर्मी के कारण इन दिनों शहर की मंडियों में सब्जियों की आवक कम होने से शहर में एक महीने पहले तक जो टमाटर 10 रुपए किलो के भाव से मिल रहा था। वही टमाटर अब 40 रुपए किलो पर पहुंच गया है। इतना ही नहीं सब्जी के साथ फ्री में मिलने वाला धनिया सब्जी विक्रेताओं ने देना बंद कर दिया है। यदि किसी को धनिया चाहिए तो उसे 200 रुपए किलो के भाव से खरीदना पड़ रहा है। सब्जी मंडियों में सभी प्रकार की सब्जियों के दाम हद से ज्यादा हो गए है। जिससे रसोई का बजट बिगड़ने लगा है।

तेज गर्मी से झुलसी सब्जियां, आवक कम होने से महंगी हुई सब्जियां

सब्जी विक्रेता दुर्गेश किशन मंडरालिया, रामकुमार माली व मोहन सैनी आदि ने बताया कि एक माह पूर्व सभी सब्जियों के दाम कम थे, लेकिन इस बार तेज गर्मी के कारण खेतों में सभी सब्जियां झुलस कर खराब हो गई हैं और आवक कम हो रही है। जिससे जिले के गांव कोटे,अस्थल,बीजलपुर, पातरी, गेरई, मेले गेट बाहर, वरखेड़ा नदी के पास व बर्रिया आदि गांवों से शहर में सब्जियों की आवक होती थी। लेकिन फसल खराब के कारण सब्जियों की आवक कम हो रही है। इसलिए आगरा, जयपुर, ग्वालियर, भरतपुर, महुआ, गंगापुर व हिंडौन सिटी आदि शहरों से सब्जियां आने से भी सब्जियों के भावों में तेजी हुई है।

जिससे ग्रालेकिन अब आधा-पाव सब्जी खरीदते दिखाई दे रहे हैं। हक मंडियों में सब्जियां लेने आते हैं और सब्जियों के भाव सुन कर ही उलटे पांव चले जाते हैं व कई ग्राहकों से तो सब्जियों को खरीदते समय किचकिच का माहौल हो जाता है। गौरतलब है कि इन दिनों सब्जियों के भावों में आई तेजी को देख घरों में किचकिच का माहौल बना हुआ है,सब्जी मंडियों में भी खरीदारी करने आए लोग सब्जियों के भावों को देखकर उल्टे पांव लौट जाते है। सब्जी मंडी में करीब सभी प्रकार की सब्जियों के दाम काफी तेज हुए हैं। सब्जियों के दामों में आई एकदम तेजी से लोग निराश दिखाई दे रहे हैं। जहां पहले लोग थैलों में भर कर सब्जी ले जाते थे।

खबरें और भी हैं...