किसान आक्रोशित:रात में फसल की सिंचाई करते मंडावरा गांव के किसान की मौत, नारौलीडांग और धाधरैन में तीन घंटे किया हाइवे जाम

करौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सूरौठ| धाधरैन में जाम के दौरान भरतपुर- गंगापुर स्टेट हाईवे पर अलाव जलाते किसान।‎ - Dainik Bhaskar
सूरौठ| धाधरैन में जाम के दौरान भरतपुर- गंगापुर स्टेट हाईवे पर अलाव जलाते किसान।‎
  • दिन में थ्री फेस बिजली सप्लाई की मांग, बिजली निगम अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा, हाइवे जाम की चेतावनी

गत रात्रि को तेज ठंड में फसल सिंचाई करते समय एक किसान की मौत हो गई, इसको लेकर क्षेत्र के किसानों ने आक्रोशित होकर सोमवार सुबह कुड़गांव विद्युत ग्रिड पर प्रदर्शन कर दिन में फसल सिंचाई के लिए बिजली सप्लाई की मांग करते हुए विभागीय अधिकारियों को ज्ञापन देकर तालाबंदी व हाइवे जाम की चेतावनी दी गई।
कुड़गांव विद्युत ग्रिड पर सोमवार सुबह दिन में थ्री फेस बिजली सप्लाई की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन पर बैठे प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाते हुए बताया की पिछले काफी समय से विभागीय अधिकारियों की मनमानी के चलते रात्रि को सिंचाई के लिए सप्लाई दी जा रही है, जिससे तेज ठंड के कारण महमदपुर ग्राम पंचायत के बूढ़ा मंडावरा गांव निवासी रामस्वरूप मीना (60) अपने खेत पर रविवार रात को सरसों की सिंचाई कर रहा था सुबह तक घर नहीं लौटने पर परिजन चिंतित हुए और तलाश करते हुए खेत पर पहुंचे तो वहां किसान मृत पड़ा हुआ मिला, जिससे परिजन व क्षेत्र के धरती पुत्रों में सनसनी फैल गई।
रात्रि को थ्री फेस सप्लाई देने से आक्रोशित होकर महमदपुर, कुड़गांव, वास मंडावरा, बूढ़ा मंडावरा, खूबपुरा, नयावास सहित आधा दर्जन से ज्यादा गांवों के सैकड़ों किसान सोमवार सुबह 10 बजे के लगभग कस्बे के ग्रिड पर पहुंचे और दिन के समय थ्री फेज बिजली सप्लाई की मांग को लेकर विभाग के विरुद्ध नारेबाजी के साथ धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन तैयार किया गया। मौके पर पहुंचे सपोटरा सहायक अभियंता रामराज मीणा, कनिष्ठ अभियंता राहुल कुमार मीना को ज्ञापन सौंपा, जिसमें रवि फसल सिंचाई के लिए दिन में सप्लाई की मांग पूरी नहीं होने पर करौली गंगापुर हाइवे जाम व जीएसएस पर तालाबंदी की चेतावनी दी गई है।
परिजनों ने बताया कि मृतक किसान रामस्वरूप खेती किसानी कर अपने परिवार का पालन करता था इसके जनक राज व समय राज दो बेटे हैं जिसमें जनकराज पिता के साथ हाथ बंटा कर खेती किसानी का कार्य करता है वही समय राज की राजस्थान पुलिस में नौकरी है।
दो शिफ्टों में दिन में मिलेगी बिजली
विद्युत विभाग सहायक अभियंता रामराज मीना को धरना प्रदर्शन की जानकारी मिलने पर कुड़गांव जीएसएस पर पहुंचे जहां फसल सिंचाई सप्लाई संबंधी मांग को सुनकर विभाग की ओर से पूर्व में निर्धारित किए गए फीडर के अनुसार ही सप्लाई देने की बात पर किसान आक्रोशित हो उठे और 33 केवी विद्युत लाइन को बांधने एवं दिन के समय बिजली सप्लाई देने की जिद पर अड़ गए तथा कैबिनेट मंत्री सपोटरा विधायक रमेश चंद्र मीणा को ज्ञापन देने की बात कही इसके बाद सहायक अभियंता ने किसानों से आपसी समझाइश कर सुबह 5 से 11 और 11 से शाम 4 बजे तक दो फीडर से सप्लाई देने के आश्वासन पर धरना-प्रदर्शन समाप्त किया। आश्वासन पूरा नहीं होने पर दोबारा प्रदर्शन की चेतावनी दी गई है।

धाधरैन में रात में थ्री फेस बिजली आपूर्ति देने से भड़के ग्रामीण , हाइवे पर अलाव जलाया

सूरौठ। दिन के बजाय रात्रि में बिजली आपूर्ति देने से परेशान किसानों ने सोमवार को गांव धाधरैन में भरतपुर- गंगापुर स्टेट हाईवे को 3 घंटे के लिए जाम कर दिया। ग्रामीणों ने सिंचाई के लिए दिन में थ्री फेज बिजली देने की मांग को लेकर मेगा हाईवे पर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे बिजली निगम के अधिकारियों एवं पुलिस ने समझाइश कर जाम खुलवाया। ग्रामीणों ने बताया कि सिंचाई के लिए किसानों को रात 10 बजे से तड़के 4 बजे तक बिजली दी जा रही है। रात्रि के फीडर की वजह से ठंड के मौसम में रवि की फसल की सिंचाई करने में किसानों को काफी परेशानी हो रही है। किसानों ने बताया कि पहले दिन में ही थ्री फेज बिजली आपूर्ति होती थी लेकिन पिछले 15 दिन से रात्रि में बिजली सप्लाई की जा रही है। किसानों ने स्टेट मेगा हाइवे पर जाम लगाकर विरोध प्रदर्शन किया। बिजली निगम के अभियंताओं के खिलाफ नारेबाजी की। सर्दी की वजह से किसानों ने मेगा हाइवे सड़क पर अलाव जला लिए। जाम की सूचना मिलने पर बयाना थाने के पुलिस उप निरीक्षक पूरन सिंह, बिजली निगम के सहायक अभियंता विवेक शर्मा, कनिष्ठ अभियंता पंकज शर्मा एवं कई पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे तथा आक्रोशित किसानों से बातचीत की। पहले तो किसान जाम खोलने के लिए राजी नहीं हुए, लेकिन बाद में आक्रोशित किसान जाम खोलने के लिए मान गए।

खबरें और भी हैं...