नाकामी - हत्यारे पकड़ से दूर:जिले की सीमाएं सील, पुलिस का पहरा, हत्यारे चार दिन बाद भी पकड़ से दूर

करौली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मंडरायल में सिपाही और सूरौठ के चिनायटा में सरपंच पति की हत्या का मामला
  • कॉल डिटेल्स से दोनों की ही मर्डर मिस्ट्री भी ओपन, फिर भी नहीं मिल पा रही कामयाबी

मंडरायल कस्बे में खाकी पर जघन्य हमले में सिपाही गोकुलेश शर्मा की निर्मम हत्या और सूरौठ थाने के गांव चिनायटा में सरपंच पति पप्पू डागुर की मर्डर मिस्ट्री ओपन होने के बावजूद बदमाशों की पकड़ नहीं होना, मेरी साख पर सवाल खड़े करने वाला है।लिहाजा, मंडरायल व चिनायटा गांव की इन दोनों ही वारदातों में चार व दो दिन गुजर जाने के बाद भी हमारे खाकी वाले अश्व की आंखों से अश्क बहना भी घडिय़ाली आंसू बहाने जैसा ही है। इधर, चौकसी पर चिंता भी कोविड वायरस की तरह आमजन के जहन में पनपने लग गई है। वीकेंड कर्फ्यू और जन अनुशासन पखवाड़े में भी जिले की सीमाओं पर चाक-चौबंद व्यवस्थाओं के दावों की पोल इन बेखौफ अपराधियों ने वारदात को अंजाम देकर खोल दी है। मसलन, लॉक डाउन में कौन चुस्त और कौन सुस्त हुआ,यह सब जानते हैं। इसलिए यहां इसका जिक्र करना भी बेमानी ही होगा। कोविड बॉर्डर लॉक की असल चाबी किसके हाथ है, खाकी या कोई और...।

जिले की सील सीमाओं पर चौकसी भी कटघरे में...दरअसल, मंडरायल में 25 अप्रेल की रात 8 बजे रविवार वीकेंड कर्फ्यू के दौरान ही कांस्टेबल की हत्या और फिर मंगलवार, 27 अप्रैल को चिनायटा सरपंच के पति पप्पू जाट का भी मर्डर की घटना खाकी को सीधी चुनौती मानी जा सकती है। आमजन में चर्चा भी शुरू हो गई है कि यहां सिस्टम अब मरणासन्न अवस्था में है और लोग कोविड वायरस के घातक प्रहार की आहट से भी खौफजदा हैं। दूसरा, जिले में बढ़ती जघन्य आपराधिक वारदातें व तस्करी के गोरख धंधों के लिए यहां बदमाशों के लिए आरामगाह बन गई है। चार दिन तक पुलिस के हाथ खाली होना सिस्टम पर सवालिया निशान के साथ ही खाकी के ध्येय वाक्य के विपरीत सा होने लगा है।

मांगों का उजड़ा सिंदूर, कौन है जिम्मेदार...मंडरायल थाने में पदस्थ कांस्टेबल गोकुलेश शर्मा की पत्थर मारकर व कुचलकर की गई निर्मम हत्या और चिनायटा में सरपंच पति पप्पू जाट की दर्दनाक हत्या से परिवार पर दु:खों का वज्रपात हुआ है। दोनों की पत्नियों की मांग का उजड़ा सिंदूर अब पुलिस से न्याय की गुहार लगा रहा है,आखिर इसका जिम्मेदार कौन है। बहरहाल, हत्यारे कब गिरफ्तार होंगे,पुलिस की टीमें जिले के साथ ही समीपवर्ती राज्यों में दबिश देकर खाक छान रही हैं,मगर अभी तक कोई सुराग तक नहीं लग पाया है। कांस्टेबल का हत्यारा तो चार दिन बाद भी पकड में नहीं आया है,वहीं सरपंच पति के हत्यारे बदमाश भी खाकी के हत्थे नहीं चढ़ पाए हैं।

पुलिस पहरा, फिर भी बदमाश पकड़ से दूर कोविड की दूसरी लहर के कहर के बीच गृह विभाग के निर्देशानुसार जिले में सीमाओं पर पुलिस का पहरा भी है। इसी दरम्यान, दोनों घटनाओं को अंजाम देने वाले हत्यारे बदमाश पुलिस के पहरे से कैसे बच गए। इनकी चौकस निगाहों में खोट है या फिर आइना ही धुंधला हो गया है। मंडरायल में सांझ ढले पहर में तो चिनायटा में तडके वाली पहर में अपराधियों ने वारदात को अंजाम दिया और रफूचक्कर हो गए। जबकि, दोनों ही घटनाओं में चार-चार पुलिस की टीमें, संदिग्ध स्थानों पर दबिश देने का दंभ तो भर रही हैं,मगर कामयाबी नहीं मिल सकी है। सच यह है कि इन अपराधी, असामाजिक तत्वों को मृदु नहीं,कडवा अंदाज ही समझ आता है। कोविड एडवाइजरी की पालना के नाम पर बाजारों में गरीब,दुकानदार, ठेला वालों पर डंडा चलाने के बजाय इन पर... नहीं सुधरे तो फिर मिलेंगे नामक संदेश वाली चाबुक चलाने की जरूरत है।

साहब! माला-साफा औरमिठाई खाने में मशगूल करौली में हाल ही एसपी मृदुल कच्छावा ने दो इंस्पेक्टर व 6 सब इंस्पेक्टरों के तबादले कर थानों की कमान सौंपी है। जिनमें से ज्यादातर थानाप्रभारी इन दिनों साफा-माला पहनने के साथ ही मिठाई खाने में मशगूल नजर आ रहे हैं। खुद एसएचओ ही ऐसी तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट भी कर रहे हैं। जिनमें कोविड गाइड लाइन का उल्लंघन भी नजर आ रहा है,बिना मास्क पहने थानेदार के साथ चेहरे चमकाने वालों की भीड़ नजर आ रही हैं। खास यह है कि नए थानाधिकारी यह भी नहीं पड़ताल करते कि उनका थाने में आकर के स्वागत-सत्कार व बधाई देने वालों की पृष्ठभूमि क्या है?

हत्या के आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस सूरौठ| ग्राम पंचायत चिनायटा की सरपंच आशा देवी के पति पप्पू सिंह जाट की गोली मारकर की गई हत्या के मामले में पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है। आरोपियों को पकड़ने के लिए तीन टीमें गठित की गई है। थाना प्रभारी बालकृष्ण चौधरी ने बताया कि मामले में मृतक के पिता की ओर से हत्या की रिपोर्ट सूरौठ थाने में दर्ज करवाई गई है। उच्च अधिकारियों की ओर से गठित की गई 3 टीमें सरपंच पति की हत्या की आरोपियों की तलाश कर रही है।

खबरें और भी हैं...