पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अच्छी पहल:दिव्यांगों को आसानी से हो सकेंगे मां के दर्शन

करौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
करौली | कैलादेवी मंदिर में दिव्यांगों की सुविधा के लिए रेंप तैयार। - Dainik Bhaskar
करौली | कैलादेवी मंदिर में दिव्यांगों की सुविधा के लिए रेंप तैयार।
  • कैलादेवी भवन परिसर में अब रैंप तैयार, विभिन्न संगठनों कैलादेवी मंदिर ट्रस्ट का जताया आभार

प्रमुख आस्थाधाम व धार्मिक नगरी कैलादेवी में अब दिव्यांग श्रद्धालुजनों को भी आसानी से मां कैलादेवी की झलक-दर्शन (दीदार) हो सकेंगे। दरअसल, कैलादेवी मंदिर भवन परिसर में अब दिव्यांग की सुविधा के लिए रैंप बनकर पूरी तरह से तैयार हो गया है। कोरोना संकटकाल के बाद जब भी स्थिति सामान्य होगी और मंदिरों के दर्शन खुलेंगे तो दिव्यांग दर्शनार्थियों को बेहतर सुविधा व सुगमता से मां के दर्शनलाभ होंगे।गौरतलब है कि दिव्यांग अधिकार महासंघ के प्रयासों से उत्तर भारत के आस्था धाम कैलादेवी मंदिर परिसर में दिव्यांग जनों के लिए रैंप का निर्माण पूरा हो पाया है।

मंदिर परिसर में दिव्यांग जनों के लिए रैंप का निर्माण होने पर दिव्यांग अधिकार महासंघ के पदाधिकारियों ने कैलादेवी मंदिर ट्रस्ट का भी आभार जताया है। वहीं जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट भवन में तो अभी तक दिव्यांग के लिए रैंप की सुविधा नहीं है, ऐसे में कलेक्टर व एडीएम के दफ्तरों तक पहुंचने में सीढिय़ां चढ़कर सांस ही हांफने लग जाती है। दिव्यांग अधिकार महासंघ के जिलाध्यक्ष डॉ.घनश्याम व्यास ने बताया कि महासंघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हेमंत गोयल ने कैलादेवी मंदिर परिसर में दिव्यांग जनों के लिए रैंप नहीं होने का मुद्दा प्रभावी तौर पर निशक्तजन बोर्ड के ध्यान में लाया गया।

मंदिर में रेंप के अभाव में दिव्यांग श्रद्धालुओं को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता था। मगर, अब रेंप बनने से दिव्यांग की दिक्कत दूर होगी और सुगमता से दर्शनलाभ की सुविधा भी मिलेगी। इस संबंध में उन्होंने न्यायालय आयुक्त, विशेष योग्यजन सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग जयपुर और कैलादेवी मंदिर ट्रस्ट के प्रबंधन को पत्र भेजकर मंदिर परिसर में दिव्यांग जनों के लिए रैंप का निर्माण करवाने की मांग की थी।

खबरें और भी हैं...