पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महिला की मौत पर अस्पताल में हंगामा:परिजनों का आरोप- वैक्सीनेशन के बाद तबीयत बिगड़ने से हुई मौत,डॉक्टरों का तर्क- हृदय गति रुकने से महिला ने दम तोड़ा

करौली7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में मृतका के परिजनों और अन्य लोगों से समझाइश करते उपखंड अधिकारी देवेंद्र परमार - Dainik Bhaskar
अस्पताल में मृतका के परिजनों और अन्य लोगों से समझाइश करते उपखंड अधिकारी देवेंद्र परमार

शहर के बैरकापुरा निवासी महिला की बुधवार सुबह चिकित्सालय में मौत हो गई। महिला की मौत पर परिजनों ने चिकित्सालय में हंगामा कर दिया। बाद में पुलिस- प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा समझाइश व आश्वासन मिलने के बाद लोग शांत हुए। पुलिस ने पोस्टमार्टम करा कर शव परिजनों को सौंप दिया। थानाधिकारी रामेश्वरदयाल ने बताया कि शिकारगंज बैर का पुरा क्षेत्र निवासी महिला सीमा (35) की तबीयत खराब होने पर बुधवार

सुबह करौली चिकित्सालय में उसे भर्ती कराया। जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। परिजनों द्वारा दी गई मर्ग रिपोर्ट में बताया है कि महिला के पेट में दर्द होने पर उसे चिकित्सालय में भर्ती कराया था। जहां उसकी मौत हो गई। पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।बुधवार सुबह महिला की मौत की सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में लोग चिकित्सालय पहुंच गए और विरोध जताया।

सूचना पर नगरपरिषद उपसभापति सुनील सैनी, उपजिला कलक्टर देवेन्द्र सिंह परमार, तहसीलदार मदनलाल, कोतवाली थानाधिकारी रामेश्वरदयाल मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने परिजनों से समझाइश की। इस दौरान उपजिला कलक्टर परमार ने पीडि़त परिजनों को हरसंभव सरकारी सहायता का आश्वासन दिया है। मौके पर मौजूद समाजसेवी बबलू शुक्ला ने नगरपरिषद सभापति पुत्र व पार्षद अमीनुद्दीन की ओर से परिजनों को 50

हजार रुपए की आर्थिक सहायता की घोषणा की। इसी प्रकार नगरपरिषद उपसभापति सुनील सैनी ने महात्मा ज्योतिबा फुले युवा समिति की ओर से 50 हजार रुपए तथा गजेन्द्र सिंह उर्फ छोटे भंवर की ओर से भी 50 हजार रुपए की आर्थिक सहायता पीडि़त परिवार को देने की घोषणा की गई। समझाइश के बाद परिजन व अन्य लोग शांत हुए।

एक दिन पूर्व लगी थी महिला को वैक्सीन : मृतका के पति ने बताया कि मंगलवार को उसकी पत्नी को आंगनबाड़ी केंद्र पर वैक्सीन लगाई गई थी। इसके बाद बुधवार सुबह अचानक उसकी तबीयत बिगड़ गई जिस पर वह जिला अस्पताल लेकर आया और उसकी मौत हो गई।

हृदय गति रुकने से हुई महिला की मौत : जिला अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. पूरणमल वर्मा ने बताया कि महिला की मौत हृदय गति रुकने से हुई है। जिला अस्पताल के डॉ. महेंद्र मीणा, डॉ. शिशुपाल मीणा, डॉ.ओपी मीणा के गठित मेडिकल बोर्ड द्वारा महिला का पोस्टमार्टम किया गया है। बिसरा रिपोर्ट भी शीघ्र भेज दी जाएगी। हालांकि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही विस्तृत जानकारी दी जा सकेगी।

खबरें और भी हैं...