मांग:25 साल से कर रहे हैं पंचायत का दर्जा देने की मांग, रीठौली के ग्रामीण इस बार भी नहीं करेंगे मतदान

करौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

करौली जिले की तीन पंचायत समितियों में बुधवार को मतदान होगा। इसमें एक गांव रीठौली के ग्रामीणों ने मतदान बहिष्कार का निर्णय लिया है। श्रीमहावीरजी पंचायत समिति में आने वाले गांव रीठौली के ग्रामीण ग्राम पंचायत बनाने की मांग को लेकर 25 सालों से पंचायतीराज चुनाव का बहिष्कार करते आ रहे हैं। ऐसे में बुधवार को भी मतदान में शामिल नहीं होंगे। इसके बावजूद निर्वाचन विभाग की ओर से गांव में ही मतदान केन्द्र बना दिया गया है। रातों रात मतदान केन्द्र बनाने पर भी ग्रामीणों ने नाराजगी जताई है। रीठौली के ग्रामीणों को मतदान करवाने के लिए समझाइश करने के लिए रिटर्निंग अधिकारी हिम्मत सिंह, तहसीलदार महावीर जैन, गिरदावर व हल्का पटवारी आदि ग्रामीणों से मिले। इस अवसर पर बबलू मीना, राम अवतार मीना, रामखिलाडी, पूर्व सरपंच पप्पू मीना, भूर सिंह मीना, दिनेश, राजेन्द्र आदि से वार्ता की। इस दौरान ग्रामीणों ने कहा कि जब तक ग्राम पंचायत की मांग पूरी नहीं होती है तो तब तक पंचायत राज चुनाव का बहिष्कार करेंगे। रिटर्निंग अधिकारी हिम्मत सिंह ने ग्रामीणों से कहा कि कलेक्टर सिद्धार्थ सिहाग के निर्देश पर रीठौली के मतदाताओं के लिए जिला परिषद व पंचायत समिति के 15 दिसंबर को होने वाले चुनाव के लिए रीठौली में अलग से मतदान केन्द्र बनाया गया है। ग्राम पंचायत बनने पर मिलेगी आवश्यक सुविधाएं : ग्रामीणों का कहना रहा कि वे ग्राम पंचायत बनाने की मांग इसलिए कर रहे हैं कि ग्राम पंचायत बनने पर मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हो सकेंगी। वर्तमान में गांव के रास्ते जर्जर हैं। स्कूलों में शिक्षक पर्याप्त नहीं हैं। इसके अलावा कई मूलभूत सुविधाओं से वंचित है, इसके बावजूद उनकी मांग पर प्रशासन की ओर से ध्यान नहीं दिया जा रहा है। रीठौली के ग्रामीणों के अलावा सरपंच टोडूपुरा, शकुंतला मीना, समाजसेवी वीरसिंह, नाहरसिंह, जमना लाल, जम्मू सिंह आदि मौजूद रहे। चार वार्डों में 1202 मतदाता : ग्राम रीठौली के वार्ड नंबर 3, 4, 5 व 6 में कुल 1202 मतदाता है। वार्ड नंबर 3 में 281, वार्ड नंबर 4 में 294, वार्ड नंबर 5 में 268,तथा वार्ड नंबर 6 में 359 मतदाता है। जो वर्ष 1995 से ग्राम पंचायत की मांग को लेकर मतदान का बहिष्कार करते आ रहे हैं। ग्राम पंचायत का दर्जा सरकार स्तर का मामला: श्रीमहावीरजी पंचायत समिति के रिटर्निंग अधिकारी हिम्मत सिंह का कहना रहा कि ग्राम पंचायत का दर्जा देना राज्य सरकार स्तर का मामला है। ग्रामीण इसी मांग को लेकर मतदान का बहिष्कार करते आ रहे हैं। ऐसे में मतदान करवाने के लिए रीठौली में मतदान केन्द्र बनाया गया है। मतदान करने को लेकर ग्रामीणों से समझाइश की गई है।

खबरें और भी हैं...