• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Karauli
  • Get 59 Thousand Rupees Deposited In The Account In The Name Of Processing The Loan From The Government Employee, Tracing The Police Number And Tracing The Thugs

ऑनलाइन लोन देने के नाम पर ठगी:सरकारी कर्मचारी से लोन की प्रोसेसिंग के नाम पर 59 हजार रुपए खाते में डलवाए,पुलिस नंबर ट्रेस कर ठग का लगा रही पता

करौली7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिकायत दर्ज करवाता हुआ  वरिष्ठ सहायक। - Dainik Bhaskar
शिकायत दर्ज करवाता हुआ वरिष्ठ सहायक।

कार्यरत वरिष्ठ सहायक से 59 हजार 400 रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। पीड़ित ने करौली कोतवाली में शिकायत दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही। भरतपुर के कांमा का रहने वाला सुरेंद्र सैनी पुत्र राम सिंह सैनी करौली के फतेहपुर में राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल में वरिष्ठ सहायक के पद पर कार्यरत है। पीड़ित ने बताया कि 3 सितंबर को उनके फोन पर प्रधानमंत्री धन-जन धन योजना के तहत 1 प्रतिशत ब्याज दर से लोन देने का मैसेज आया। उसने 13 सितंबर को कॉल कर योजना की जानकारी ली गई। जिसमें बताया कि मुंबई की एक फर्म की ओर से एनआरआई फंडिंग स्कीम में सस्ती दर पर लोन दिया जा रहा है।

व्हाट्सएप पर दस्तावेज लिए
कंपनी के एक प्रतिनिधि ने व्हाट्सएप पर ही आधार कार्ड, पैन कार्ड व बैंक पासबुक की कॉपी ले ली। जिसके बाद 5 लाख का पर्सनल लोन अप्रूवल होने की सूचना दी और प्रोसेसिंग के नाम पर 28 सौ रुपए खाते में डलवा लिए। इस तरह से कभी इनकम टैक्स के नाम पर, कभी इंश्योरेंस और अन्य गतिविधियों के नाम पर कुल 59400 रुपए पीड़ित से अपने खाते में डलवा लिए। इसके बाद भी लोन की राशि आज तक पीड़ित के खाते में नहीं आई है।

पुलिस कर रही नंबर ट्रेस
अब कंपनी प्रतिनिधि ईसीएस के नाम पर 17500 रुपए खाते में डालने के लिए बोल रहा है। ठगी का एहसास होने पर बुधवार दोपहर करौली कोतवाली में परिवाद पेश किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। थानाधिकारी रामेश्वर दयाल मीणा ने बताया कि सरकारी कर्मचारी की ओर से लोन के नाम पर ठगी की शिकायत सौंपी गई है। बताए गए फोन नंबर को ट्रेस कर जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...