पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:176 आंगनबाड़ी केंद्रों पर अवधिपार चने की दाल मई में की वितरित

खेड़ला20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नारौली में अवधिपार दाल के पैकेट दिखाती महिला व बच्चा। - Dainik Bhaskar
नारौली में अवधिपार दाल के पैकेट दिखाती महिला व बच्चा।
  • आंगनबाड़ी केंद्रों पर गर्भवती महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य से खिलवाड़

कोरोना महामारी के बीच भले ही महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से आंगनबाड़ी केन्द्रों पर पढ़ने वाले बच्चों, पंजीकृत गर्भवती व धात्री महिलाओं व किशोरियों को चने की दाल बांटी जा रही है, लेकिन दाल वितरण में विभाग की लापरवाही सामने आई है।

जिले के आंगनबाड़ी केन्द्रों पर गर्भवती महिलाओं व बच्चों को पौष्टिक आहार के नाम पर अवधिपार चने की दाल बांटी जा रही है। केन्द्रों पर तीन महीने बाद एक्सपायरी डेट की दाल बांट दी गई। इसको लेकर अधिकारी भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे है। दरसअल, आंगनबाड़ी केन्द्रों पर जिस दाल को जनवरी या फरवरी माह में बांटा जाना चाहिए था उस दाल को सरकार व विभाग की लापरवाही व लेटलतीफी से मई माह में बांटा जा रहा है। उस चने की दाल को मई महीने में बांटा जा रहा है। इससे गर्भवती महिलाओं में सरकारी सिस्टम के खिलाफ रोष है। इससे विभाग के गर्भवती महिलाओं व बच्चों के पोषण को लेकर किए जाने वाले दावों की हकीकत भी सामने आ गई है।

जिले में 1309 आंगनबाड़ी केंद्र

जिले भर के सपोटरा, मण्डरायल, टोडाभीम, नादौती,हिण्डौन व करौली ब्लॉक में 1309 आंगनबाड़ी केंद्र संचालित हो रहे है। जिनमें सपोटरा ब्लॉक के सेक्टर हाडौती, काचरौदा, कुड़गाव, इनायती, सपोटरा प्रथम व द्वितीय, नारौली डांग है। इनमें कुल 176 आंगनबाड़ी केंद्र है। जिनमें अवधि पार एक-एक किलो पैकिंग की दाल आंगनबाड़ी केंद्रों पर वितरित की जा रही है।

विभाग की ओर से ऐसे बांटी जाती है दाल

आंगनबाड़ी केन्द्रों पर गर्भवती, धात्री महिला व पंजीकृत किशोरियों को 3 किलो प्रतिमाह व 6 माह से 6 वर्ष तक के बच्चों को 2 किलो प्रतिमाह दाल का वितरण किया जाता है। इसमें पोषाहार सेवाओं के तहत यह सामग्री आंगनबाड़ी केन्द्रों पर पंजीकृत लाभार्थियों को ही मिलती है।

चने की दाल में कार्बोहाईड्रेड, वसा, प्रोटीन व विटामिन होते है। इससे गर्भवती, धात्री महिलाओं एवं बच्चों को पूरा पोषण मिल सकें।लेकिन लाभार्थियों को आंगनबाड़ी केन्द्रों पर तीन माह पुरानी एक्सपायरी दाल बांटी जा रही है। ऐसे में इनके स्वास्थ्य से सरेआम खिलवाड़ होता नजर आ रहा है।

मुझे अवधिपार की जानकारी नहीं

सपोटरा ब्लॉक में आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए आए दाल के पैकेट वितरित करवा रहे है। पैकेट्स अवधि पार होने की मुझे कोई जानकारी नहीं है।
-जोगेंद्र सिंह गुर्जर, महिला बाल विकास एवं परियोजना अधिकारी सपोटरा

खबरें और भी हैं...