पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चेतावनी:बजट में आज प्रदेश की पंचायतों को 5 हजार करोड़ का विशेष पैकेज नहीं दिया तो सरपंच करेंगे आंदोलन

करौली7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • करौली के सरपंचों ने सौंपा ज्ञापन, पंचायत समितियों पर धरना-प्रदर्शन करने की दी चेतावनी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बुधवार को राज्य बजट घोषित करेंगे। इस बजट में यदि प्रदेश की ग्राम पंचायतों को 5 हजार करोड़ की राशि का विशेष पैकेज घोषित नहीं किया तो सरपंच भी आंदोलन करने को मजबूर होंगे।सोमवार को करौली के सरपंचों ने एसएफसी व एफएफसी की राशि ग्राम पंचायतों को जारी करने व छठे राज्य वित्त आयेाग के गठन होने तक विशेष पैकेज देने की मांग को लेकर कलेक्टर व जिप सीईओ को ज्ञापन भी दिया। जिसमें विशेष पैकेज नहीं मिलने की स्थिति में प्रांतीय संगठन के आह्वान पर बुधवार को पंचायत समिति स्तर पर धरना-प्रदर्शन कर आंदोलन का आगाज करने की चेतावनी भी दी है।करौली सरपंच संघ की अध्यक्ष छगनबाई के नेतृत्व में सरपंचों ने मांगपत्र में उल्लेख किया है कि पंचायती राज संस्थाओं को पंचम वित्त आयोग की वर्ष 2019-20 की राशि 2964.31 करोड़ रुपए की राशि ग्राम पंचायतों के खातों में हस्तांतरित नहीं की गई है। इससे सरपंचों में भारी आक्रोश व्याप्त है।उन्होंने बताया कि सरपंचों ने मांग की है कि जब तक छठे वित्त आयोग का गठन नहीं होता है,तब तक राज्य सरकार के आगामी बजट में ग्राम पंचायतों के आधारभूत विकास के लिए 5 हजार करोड के विशेष पैकेज की घोषणा की जानी चाहिए। अन्यथा सरपंचों को बडा आंदोलन करने को मजबूर होना पडेगा।दरअसल, करीब दो साल के दरम्यान ग्राम पंचायतों को इस मद में एक भी रुपया ग्राम पंचायतों को नहीं मिला है, इससे पंचायत के आवश्यक कामकाज भी प्रभावित हो रहे हैं और सरपंचों को बडी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस दौरान सरपंचों में हरिसिंह बैरवा काशीपुरा, प्रियंका शर्मा सौरया, रंगलाल महोली, सिरमोहर गुर्जर, रूपंती, मुन्नीदेवी, सरवती, गिलासी सहित कई सरपंच मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें