• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Karauli
  • In Hindaun, DAP Was Distributed Outside The Police Station, There Were Only 800 Bags And More Than One And A Half Thousand Takers, Hence The Scuffle Among The Farmers

कतारों में टूट रहा किसानों का सब्र:हिंडौन में थाने के बाहर बांटा डीएपी, 800 कट्टे ही थे और लेने वाले डेढ़ हजार से ज्यादा, इसलिए किसानों में धक्का-मुक्की

करौली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिंडौनसिटी | पुलिस पहरे में कृषि अधिकारियों ने किसानों को डीएपी वितरण कराया। - Dainik Bhaskar
हिंडौनसिटी | पुलिस पहरे में कृषि अधिकारियों ने किसानों को डीएपी वितरण कराया।
  • खाद मिलने में देरी से नाराज किसान पुलिस जवानों से उलझे, कृषि अधिकारियों ने कराया शांत

इन दिनों जिले में डीएपी खाद की कमी है। किसान ग्राम सेवा सहकारी समितियों पर जाकर खाद की मांग कर रहे हैं, लेकिन खाद आगे से ही नहीं आने के कारण उन्हें नहीं मिल पा रहा है। गुरुवार को डीएपी खाद आने की सूचना किसानों को मिली तो कई गांवों के महिला-पुरुष किसानों की भीड़ खाद लेने के लिए पहुंच गई। भीड़ को देखते हुए कृषि विभाग के अधिकारियों ने कोतवाली थाने के बाहर खाद का ट्रक खड़ा करवाकर पुलिस की मौजूदगी में किसानों को खाद का वितरण कराया।

महिला किसानों की भी भीड़ लग गई। महिला-पुरुष किसानों की घंटों तक खाद लेने के लिए कतार लगी रही। गुरुवार शाम तक खाद के 800 कट्टे वितरित किए। किसानों की भीड़ के चलते करौली-हिंडौन मार्ग पर वाहनों के जाम की स्थिति बन गई। कई किसान पुलिस के जवानों से भी उलझ गए। जिन्हें समझाइश कर शांत किया गया।इन दिनों सरसों की बुवाई का काम शुरू हो गया है, जिसमें डीएपी खाद की आवश्यकता पड़ती है। हिंडौन के अलावा गुरुवार को गुढाचन्द्रजी में 880 कट्टे पहुंच गए, जिनका वितरण शुक्रवार को किया जाएगा।

धक्का-मुक्की के बीच 800 कट्‌टे बांटे गुरुवार को शहर में 1250 कट्टों की डीएपी खाद की रैक शहर के पार्श्वनाथ ट्रेडिंग कंपनी पर पहुंची। कोतवाली थाने के बाहर से वितरण करना तय किया गया। खाद के कट्टों से भरे ट्रक कोतवाली थाने पहुंचे। सहायक कृषि निदेशक मोहन लाल सहित कृषि अधिकारी ज्ञानचंद जैन, सियाराम, जमालुद्दीन, विजय सिंह आदि की उपस्थिति में खाद की बिक्री शुरू की गई। घंटों लाइन में लगने से परेशान कई किसान पुलिस से भी उलझ गए। शाम तक खाद के 800 वितरित किए। कई तो किसान बैरंग ही लौट गए।

पुलिस को करनी पड़ी मशक्कत डीएपी खाद वितरण में पुलिस को भारी मशक्कत का सामना करना पड़ा। कोतवाली थाना प्रभारी गिर्राज प्रसाद ने बताया कि महिला व पुरुषों किसानों की अलग अलग लाइन लगवा कर आधार कार्ड से डीएपी खाद दिया गया। कोतवाली से गोशाला तक महिला पुरुष किसानों की लंबी कतार लग गई, जिससे यातायात व्यवस्था भी बाधित रही। कृषि विभाग ने जिले में 63 क्रय विक्रय सहकारी समितियां और निजी फर्मों को अधिकृत कर रखा है, लेकिन कहीं पर भी डीएपी खाद नहीं है।

गुढाचन्द्रजी में आज वितरित होगा खाद गुढ़ाचन्द्रजी | गुरुवार को कस्बे में डीएपी खाद के 880 कट्टे पहुंचे। जिन्हें प्रशिक्षु आईएएस और नादौती एसडीएम धीरज कुमार सिंह की देखरेख में गोदाम में उतरवाकर सील किया गया है। शुक्रवार को प्रशासन की देखरेख में किसानों को वितरित किया जाएगा। एसडीएम धीरज कुमार सिंह, नादौती तहसीलदार हरसहाय मीणा ओर कृषि पर्यवेक्षक कैलाश चंद्रवाल और हैड कांस्टेबल गजराज सिंह, पटवारी मन मोहन बैरवा, पुलिस कांस्टेबल रविन्द्र सिंह की देखरेख में प्रशासन ने कट्टों को उतरवाकर सील कर दिया।

10 दिन में खत्म हो जाएगी किल्लत सीएफसीएल से 10 हजार डीएपी खाद के कट्टों की रैक आ चुकी है। इस रैक का वितरण होते ही हिंडाल्को कंपनी की रैक लग जाएगी, जिसमें लगभग 14 हजार कट्टे आएंगे। अक्टूबर में तीन हजार मैट्रिक टन की मांग का आंकलन किया था, अब तक एक हजार मैट्रिक टन खाद प्राप्त हुआ है। 700 मैट्रिक टन इस सप्ताह और उपलब्ध होने की संभावना है। लगभग 6400 मैट्रिक टन खाद की आवश्यकता है। अभी तक 1000 मैट्रिक टन खाद ही उपलब्ध हो पाया है।रामलाल जाट, कृषि उपनिदेशक

खबरें और भी हैं...