अनदेखी:हरे पेड़ों की हो रही अंधाधुंध कटाई, अधिकारी नहीं कर रहे कोई कार्रवाई

करौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
खेड़ला।जंगलो से हरे पेड़ों को काटकर ले  जाती महिलाएं। - Dainik Bhaskar
खेड़ला।जंगलो से हरे पेड़ों को काटकर ले जाती महिलाएं।

इन दिनों कस्बे की हरी भरी पहाडियो पर वन विभाग की लापरवाही के चलते क्षेत्र में धड़ल्ले से हरे पेड़ों की कटाई की जा रही है। इसके बाद भी विभाग इन पर शिकंजा नहीं कस पा रहा है। इसके अलावा प्रशासन भी इस तरफ अनदेखी कर रहा है। जबकि हर वर्ष सरकार व प्रशासन हरियाली को बढ़ावा देने के लिए पौधरोपण अभियान चलाता है। इस पर सरकार द्वारा करोड़ों रुपए खर्च किए जाते हैं, जबकि उसकी सुरक्षा को लेकर संबंधित विभाग ही लापरवाही बरतते हैं। इसके अलावा विभिन्न संस्थाएं भी लगातार जागरूक करते हुए पौधरोपण कर रही हैं, जिससे जिला हरा भरा रहे और प्रकृति संरक्षण का सपना साकार हो सके। वर्तमान में नारौली डांग की पहाडी़ वन क्षेत्र में पेड़ों की अंधाधुंध कटाई की जा रही है।पेड़ काटने वालों पर कड़ी कार्रवाई नहीं होने के कारण इस पर प्रतिबंध नहीं लग पा रहा है।अवैध कटान पर रोकथाम नहीं होने के कारण जहां चारों ओर कभी घने पेड़ नजर आते,आज दूर तक क्षेत्र वीरान नजर 0 आता है। वहां पर अब ठूंठ ही नजर आते हैं।प्रतिदिन दर्जनो महिलाओ को सिर पर जंगलों से हरी लकडियो की गठरी ले जाते देखा जा सकता है। जांच की जाती है नारौली डांग वन क्षेत्र से हरे पेडो को कटाकर ले जाने की मैं खुद आकर जांच करता हूं। - घनश्याम मीना, क्षेत्रीय वन अधिकारी सपोटरा

खबरें और भी हैं...