गृह और दान-पुण्य / बृहस्पति ने किया धनु राशि में प्रवेश, राशियों पर पड़ेगा प्रभाव, दान-पुण्य से मिलेगा लाभ

X

  • भाग्य का साथ अाैर शत्रु पर विजय मिलेगी, 6 राशियों को तरक्की, फायदा मिलने के योग

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

करौली. ब्रह्मांड में देवगुरु बृहस्पति महीने के आखिरी दिन मंगलवार को मकर राशि बदलकर धनु में आ गए हैं। इससे परिस्थितियां बदलेंगी। राज्याचार्य पंडित प्रकाश चंद जती ने बताया कि  गुरु गृह वक्री चल रहा है। यानि सभी राशियों को इस ग्रह का शुभ प्रभाव नहीं मिल पा रहा है। बृहस्पति ने वक्री रहते हुए 30 जून को मकर से धनु राशि में प्रवेश किया है। 13 सितंबर को मार्गी चाल से चलेंगे। 20 नवंबर तक धनु में रहेंगे। इस राशि परिवर्तन से गुरु और केतु की युति भी होगी। साथ ही राहु का दृष्टि संबंध बनेगा। इस अशुभ योग का प्रभाव देश-दुनिया के साथ सभी राशियों पर भी पड़ेगा। बृहस्पति के राशि बदलने से देश में बड़े राजनैतिक, भौगोलिक बदलाव हो सकते हैं। गुरु के प्रभाव से 6 राशियों के लिए समय ठीक नहीं रहेगा। वहीं अन्य 6 राशियों को तरक्की, फायदा मिलने के योग हैं।
राशियों पर पड़ेगा प्रभाव
मेष : नाैकरी और व्यापार में अच्छा समय शुरू हो जाएगा। भाग्य का साथ और शत्रु पर विजय मिलेगी।
वृष : अधिकारियों से मदद मिलेगी। वाणी पर संयम रखें, वर्ना गलत मतलब निकाला जा सकता है।
मिथुन : कामकाज में स्थिरता आएगी, साहस और आत्मविश्वास बढ़ेगा। प्रमोशन का योग है।
कर्क : सभी सोचे हुए काम पूरे होंगे, लेकिन परेशानियों का सामना भी करना पड़ेगा।
सिंह : कामकाज को लेकर नए मौके मिलेंगे। संतान संबंधी चिंता दूर हाेगी। परिवार में मांगलिक कार्य के योग हैं।
कन्या : प्रॉपर्टी, वाहन खरीदने के योग हैं। जॉब और बिजनेस में तरक्की होगी।
तुला : पुराने विवाद से तनाव बढ़ेगा। दूसरों की सलाह मानने से पहले खुद विचार जरूर करें।
वृश्चिक : लेन-देन और निवेश में सावधानी रखनी होगी।
धनु : सकारात्मक सोचे के साथ जॉब और बिजनेस में लाभ। धर्म और अध्यात्म में रुचि बढ़ेगी।
मकर : शत्रुओं से पीड़ा है संभल कर चले। सेहत के मामलों में लापरवाही नहीं बरतें।
कुम्भ : नई योजनाएं पर काम करेंगे। खर्च बढ़ेगा, परिवार में मांगलिक काम हो सकते हैं।
मीन : माता की सेहत को लेकर चिंता रहेगी। किसी के सहयोग से रुके काम बनेंगे। कृपा पाने के लिए करें दान-पुण्य उन्होंने बताया कि इस दौरान सभी जातकों को गुरूवार को भगवान भोले नाथ को बेसन के लड्‌डू का भोग लगाएं। गुरूवार को पीपल पर मीठा जल चढ़ाएं,श्री विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ करें। नित्य केसर व हल्दी का तिलक लगाएं। माता-पिता व गुरू के चरण स्पर्श कर आशीर्वाद प्राप्त करें। वहीं भगवान भोले नाथ की कृपा पाने के लिए उनकी पूजा-अर्चना करने के साथ दान-पुण्य करना चाहिए। जिसमें साधु-संतों के साथ ब्राह्मणों, गरीबों को भोजन कराकर व वस्त्र दान करने के साथ गायों को हरा चारा खिलाना चाहिए। वहीं पक्षियों के लिए परिंडे भी लगाने चाहिए। जिससे विशेष लाभ मिलता है और भगवान भोले नाथ की कृपा अपने भक्तों पर हमेशा बनी रहती है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना