नवीन हॉस्पिटल को मिला 200 सिलेंडर का ऑक्सीजन प्लांट:करौली में 3 गुना बढ़ी ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता, प्लांट से प्रति मिनट 960 लीटर ऑक्सीजन जा सकती है बनाई

करौली17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ऑक्सीजन प्लांट को शुरू करने से पहले  पूजन करते हुए। - Dainik Bhaskar
ऑक्सीजन प्लांट को शुरू करने से पहले पूजन करते हुए।

करौली के नवीन जिला हॉस्पिटल में 200 सिलेंडर उत्पादन क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट का गुरुवार को चिकित्सा मंत्री ने लोकार्पण किया। जिससे अब करौली में ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता 3 गुना बढ़ गई है। नवीन हॉस्पिटल भवन में एक प्लांट 65 सिलेंडर उत्पादन क्षमता का बन कर लगभग तैयार है। पुराने हॉस्पिटल में 65 सिलेंडर उत्पादन क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट का जन सहयोग से पिछले ही महीने लोकार्पण हुआ है। जिससे करीब 100 मरीजों को ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा सकेगी। जबकि पुराने चिकित्सालय में 35 सिलेंडर उत्पादन क्षमता का एक ऑक्सीजन प्लांट पहले से लगा हुआ है।

नवीन हॉस्पिटल भवन में आयोजित लोकार्पण कार्यक्रम में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने पीएम केयर्स फंड से निर्मित ऑक्सीजन प्लांट का वर्चुअल लोकार्पण किया। इस दौरान करौली विधायक लाखन सिंह मीणा, पीएमओ डॉ. पूरणमल मीणा, एमसीएच विंग के प्रभारी डॉ. दिनेश गुप्ता ने विधिवत पूजन कर ऑक्सीजन प्लांट को शुरू किया। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल आयोजित कार्यक्रम में पूरे देश में पीएम केयर फंड से निर्मित ऑक्सीजन प्लांट आमजन को समर्पित किये है।

इस दौरान विधायक ने कहा कि ऑक्सीजन कमी को दूर करने के लिए राज्य और केंद्र सरकार ने मिलकर जिला मुख्यालयों पर ऑक्सीजन प्लांट तैयार किये है। जिससे कोरोना जैसी महामारी से निपटने में मदद मिलेगी।पीएमओ डॉ. पूरणमल मीणा ने बताया कि नवीन ऑक्सीजन प्लांट से प्रति मिनट 960 लीटर ऑक्सीजन उत्पादित की जा सकती है। जो करीब चिकित्सालय में भर्ती 300 मरीजों के लिए पर्याप्त है। करीब 200 कोरोना रोगियों को एक साथ ऑक्सीजन दी जा सकती है। प्लांट से 200 सिलेंडर ऑक्सीजन के भरे जा सकते हैं।

खबरें और भी हैं...