हादसा:पोलिंग पार्टी की मिनी बस व कार की भिड़ंत में मृतक दो लोगों का जिला अस्पताल में हुआ पोस्टमार्टम

करौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंचायत समिति एवं जिला परिषद के चुनाव के प्रथम चरण में रविवार रात को नारौली डांग से चुनाव कराकर करौली आ रही पोलिंग पार्टी की मिनी बस और कार की भिड़ंत में दो लोगों की मौत के बाद सोमवार सुबह कुड़गांव थानाधिकारी नीरज शर्मा द्वारा जिला अस्पताल की मेडिकल टीम ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया। इस दौरान दोनों मृतकों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था।
कुड़गांव थानाधिकारी नीरज शर्मा ने बताया कि रविवार रात को नारौली डांग पोलिंग बूथ से मतदान कराकर मिनी बस से करौली आ रही पोलिंग पार्टी की मिनी बस का बीजलपुर भड़क्या प्याऊ के पास कैलादेवी से शादी समारोह में से वापस लौट रही कार से भिड़ंत हो गई। जिसमें सुदर्शनपुरा 22 गोदाम जयपुर निवासी जीतेन्द्र सिंह(38) पुत्र उदय सिंह राजपूत एवं कैलादेवी पुराने थाने के पीछे रहने वाले वीरेंद्र सिंह (32) पुत्र जगदीश सिंह की मौत हो गई। दोनों के शवों को जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया। सोमवार सुबह जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द करदिए। इस दौरान मृतकों के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था।
जीतेन्द्र सिंह गाड़ी बुकिंग कर लाया
जीतेन्द्र सिंह के परिजनों ने बताया कि जीतेन्द्र सिंह 2 दिन पूर्व पार्टी की बुकिंग लेकर कैलादेवी में आयोजित शादी समारोह में भाग लेने के लिए गाडी लेकर आया था। इसके दो बच्चे पुच्चू और चुन्नू है। वहीं वीरेंद्र सिंह एक निजी कंपनी में काम करता था और कैलादेवी में प्राइवेट कंपनी मैं कार्य करता था। इसके एक पुत्र और एक पुत्री थी और पुत्री महज लगभग एक माह की है।
चिकित्सा टीम ने मौके पर किया उपचार।
दुर्घटना की सूचना पर कुड़गांव सीएचसी चिकित्सा अधिकारी प्रभारी डॉ अमित उपाध्याय, डॉक्टर राजेश बैरवा, डॉक्टर सुमन मीणा, कंपाउंडर सतीश मीणा, गजानंद शर्मा, गणेश मीणा सहित दर्जनों चिकित्सा कर्मियों की मेडिकल टीम ने दुर्घटना स्थल पर पहुंच कर मौके पर ही घायल मरीजों का उपचार किया।
कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने निभाया मानवता का फर्ज। रविवार रात्रि 9 बजे के लगभग करौली गंगापुर हाईवे बीजलपुर भड़क्या प्याऊ के पास पोलिंग पार्टी की मिनी ग्रामीण बस और सवारियों से भरी जीप में भिड़ंत हो गई जिसमें दो की मौत एवं 8 लोग घायल हो गए इस दर्दनाक दुर्घटना स्थान पर पहुंचे कलेक्टर सिद्धार्थ सिहाग और पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा वाहनों में फंसे घायलों एवं मृतकों को पुलिस के साथ हाथ बटा कर बाहर निकलवाने में मानवता का फर्ज निभाया कि इस दौरान मौके पर जमा भीड़ में से अधिकांश लोग तमाशबीन बने रहे कुछ लोग तो ऐसे थे जो दुर्घटना स्थल का वीडियो बनाने में रुचि दिखा रही थे।

खबरें और भी हैं...