पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर ब्रेकिंग : तबादले में गफलत या गफलत से तबादला:जिस कांस्टेबल को भविष्य में पदस्थापित नहीं करने की बात कही, उसे 20 दिन बाद उसी थाने में दे दी पोस्टिंग

करौली18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
करौली। 20 दिन पहले टोडाभीम थाने से लाइन हाजिर कांस्टेबल राजेशसिंह को पुन: टोडाभीम थाने में मिली पोस्टिंग। - Dainik Bhaskar
करौली। 20 दिन पहले टोडाभीम थाने से लाइन हाजिर कांस्टेबल राजेशसिंह को पुन: टोडाभीम थाने में मिली पोस्टिंग।
  • ऑपरेशन विभीषण में शिकायतों पर सिपाही को लाइन हाजिर किया था, एसपी का तर्क तब गलती से लिख दिया था नाम

जिले में 20 दिन पहले ऑपरेशन विभीषण के तहत लाइन हाजिर 14 पुलिसकर्मियों में से एक कांस्टेबल राजेशसिंह को 20 दिन बाद उसी थाने में पोस्टिंग दे दी गई। जबकि पहले तबादला आदेश में स्पष्ट नोट डाला गया था कि इन पुलिसकर्मियों को भविष्य में सर्किल टोडाभीम, हिंडौन, सीओ ऑफिस व ट्रैफिक की किसी भी यूनिट में पदस्थापित नहीं किया जाएगा। दरअसल 20 दिन पहले एसपी मृदुल कच्छावा ने जिले के 14 पुलिसकर्मियों को ऑपरेशन “विभीषण’ के तहत लाइन हाजिर किया था। जिनमें थाना सूरौठ,हिंडौन व टोडाभीम से तीन हैड कांस्टेबलों सहित 11 कांस्टेबलों को थानों से हटाते हुए 16 जून 2021 को आदेश जारी किया था।

आदेश में सभी 14 पुलिसकर्मियों को भविष्य में सर्किल टोडाभीम,हिंडौन, सीओ ऑफिस व ट्रैफिक की किसी भी यूनिट में पदस्थापित नहीं करने का नोट भी डाला गया था। इस आदेश की प्रति पुलिस मुख्यालय के उच्चाधिकारियों को भी भेजी गई। इसके बाद 5 जुलाई को 4 एएसआई,7 हैड कांस्टेबल सहित 41 कांस्टेबलों की स्थानांतरण सूची जारी की गई। उसमें पूर्व के आदेश में लाइन हाजिर कांस्टेबल राजेशसिंह (53) को 20 दिन बाद वापस टोडाभीम थाने में पोस्टिंग दी गई है। अब एसपी इसे त्रुटि सुधार बता रहे हैं।

अपराधियों से सांठ-गांठ व अन्य शिकायतों के चलते किया था लाइन हाजिर

करौली जिले में क्राइम कंट्रोल को लेकर एसपी मृदुल कच्छावा ने गुप्त ऑपरेशन के तहत लंबे समय से इलाके में पदस्थापित सिपाहियों की कुंडली खंगलवाई। जिसमें संबंधित थानाप्रभारियों की जांच रिपोर्ट में 14 पुलिसकर्मियों की आपराधिक तत्वों को संरक्षण देने, शराब माफिया, जुआरी-सटोरियों से सांठगांठ सहित अन्य शिकायतें सामने आई। इस पर इन्हें लाइन हाजिर कर दिया गया। हिंडौन की पूरी रीको चौकी का स्टाफ भी हटाया गया। 20 दिन बाद ही आदेश में बदलाव महकमे में चर्चा का विषय बना हुआ है।पहला आदेश : एसपी कच्छावा की ओर से जारी 16 जून को जारी आदेश में 14 पुलिसकर्मियों के साथ कांस्टेबल राजेश सिंह (253) को थाना टोडाभीम से हटाकर पुलिस लाइन करौली भेजा गया। जिसमें लिखे नोट के मुताबिक, इनमें से किसी को भी भविष्य में सर्किल टोडाभीम,हिंडौन, सीओ ऑफिस व ट्रैफिक की किसी भी यूनिट में पदस्थापित नहीं करने का उल्लेख है।

दूसरा आदेश : 5 जुलाई को जारी दूसरे ऑर्डर में 41 कांस्टेबलों की तबादला सूची में क्रमांक 20 पर दर्ज कांस्टेबल राजेश सिंह (253) को वापस थाना टोडाभीम लगाया गया है। कांस्टेबल करीब तीन साल से उसी इलाके में पदस्थापित बताया जाता है। भास्कर ने कांस्टेबल राजेश का पक्ष जानने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने रिसीवनहीं किया।

खबरें और भी हैं...