विरोध-प्रदर्शन:बिजली की अघोषित कटौती से परेशान ग्रामीणों ने तहसील कार्यालय के बाहर किया विरोध-प्रदर्शन

करौली18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सूरौठ| बिजली की अघोषित कटौती के विरोध में तहसील कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
सूरौठ| बिजली की अघोषित कटौती के विरोध में तहसील कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते ग्रामीण।

कस्बा सूरौठ एवं क्षेत्र के गांवों में चल रही बिजली की अघोषित कटौती से आमजन परेशान है। बिजली समस्या के विरोध में बुधवार की शाम को ग्रामीणों ने तहसील कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया तथा बिजली निगम के अभियंताओं के खिलाफ नारेबाजी की। बिजली की अघोषित कटौती के कारण तहसील कार्यालय में दोपहर बाद रजिस्ट्री कार्य भी ठप हो गया।ग्रामीण टीकम शेरपुर, राजू, मुजफ्फर अली, रमेश, अमर सिंह, गिरधारी, मुकेश सहित सैकड़ों लोग तहसील कार्यालय के बाहर एकत्रित हुए तथा विरोध प्रदर्शन किया।

ग्रामीणों ने बताया कि बिजली कटौती के कारण तहसील कार्यालय में रजिस्ट्री कार्य ठप हो गया है। तहसील कार्यालय में इन्वर्टर खराब पड़ा हुआ है एवं बिजली नहीं आने के कारण कामकाज बाधित हो रहा है। तहसील कार्यालय में रजिस्ट्री करवाने आए कई किसानों को निराश होकर वापस लौटना पड़ा। बिजली कटौती के कारण कस्बे में लघु उद्योग धंधे भी प्रभावित हो रहे हैं। इस संबंध में सूरौठ के पूर्व सरपंच अनिल तिवाड़ी सहित काफी लोगों ने बिजली निगम के उच्च अधिकारियों एवं जिला कलेक्टर से बिजली समस्या का स्थाई समाधान करवाने की मांग की है।

बिजली कटौती के संबंध में बिजली निगम के जेईएन मनोज बैरवा ने बताया कि कोयला की कमी के चलते ऊपर से ही बिजली कटौती चल रही है। एक-दो दिन में कटौती बंद कर दी जाएगी।पटोंदा में अघोषित बिजली कटौती से लोग हुए बेहालपटोंदा | कस्बा सहित आस पास के दर्जनों गांवों में बिजली की अघोषित कटौती से आमजन आहत है। मंगलवार रात से लगातार 12 घण्टे से अधिक की जा रही विद्युत की कटौती ने लोगों की रातों की नींद हराम कर रखी है। 33 केवी ग्रिड स्टेशन दानालपुर, इरनिया, खेड़ा, पटोंदा आदि से जुड़े करीब 50 से अधिक गांवों की बिजली आपूर्ति नहीं हो पा रही है।

खबरें और भी हैं...