पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शासन-प्रशासन की सलाह:शादियां भी क्वारेंटाइन... 31 मेहमान और तीन घंटे में विवाह, इसलिए रद्द हो रही वाटिकाएं, सामूहिक विवाह समारोह भी नहीं

करौली12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अभी शादियां टाल दो तो अच्छा, गाइडलाइन नहीं मानी तो एक लाख रुपए तक का जुर्माना लगेगा

कोविड की दूसरी लहर का कहर अब चरम पर है। ऐसे में प्रदेश के भयावह हालातों के मद्देनजर सीएम अशोक गहलोत ने शादी समारोह स्थगित करने की भावनात्मक अपील की है,वहीं राज्य सरकार ने नई कोविड गाइड लाइन की पालना को सख्ती से लागू करने का निर्णय लिया है। इससे पूर्व में बुक मैरिज हॉल सहित कई कार्यक्रम व बुकिंग भी निरस्त हो रही हैं।दरअसल, कोरोना की यह लहर सावों के सीजन पर भारी पड रही है। अब राज्य सरकार ने 3 से 17 मई तक महामारी रेड अलर्ट-जन अनुशासन पखवाड़ा और कर्फ्यू के लिए भी नई गाइड लाइन जारी कर दी है। जिसमें मेहमानों की संख्या 50 से घटाकर 31 करने के साथ ही पूरा समारोह भी महज 3 घंटे में ही निबटाना होगा। इसकी संबंधित एसडीएम से ही ऑनलाइन स्वीकृति लेना जरूरी होगा।

ऐसे में शादी वाले परिवार अब पशोपेश में पड गए हैं और कई लोग को शादियां स्थगित करने में भी भलाई समझ रहे हैं। लिहाजा, शासन व प्रशासन भी अब लोगों को शादियां टालने की सलाह दे रहा है,ये नए नियम नहीं माने तो एक लाख रुपए का जुर्माना भी भरना पड़ सकता है।गौरतलब है कि मई माह के इन 15 दिनों में आखातीज जैसे अबूझ सावे सहित कई मुहूर्तों की जिलेभर में सैंकडों शादियां प्रस्तावित हैं। ऐसे में आयोजक और बुकिंग वाले सब चिंतित और परेशान भी हैं। खास यह है कि परिवार को अब शादी में रहने वाले 31 लोगों की सूची मोबाइल नंबर, विवाह स्थल आदि की जानकारी एसडीएम को देना अनिवार्य है। बिना सूचना के विवाह पर 5 हजार और 31 से ज्यादा लोग शादी में होने पर 1 लाख रुपए का जुर्माना भी लगेगा। यह दंड आयोजक व विवाह स्थल संचालक दोनों से भी वसूला जा सकता है।

संक्रमण ज्यादा, इसलिए शादी के आवेदन भी ऑनलाइन

कोविड संक्रमण के चलते अधिकांश परिवार विवाह अनुमति भी मैन्युअली लेने के वजाय ऑनलाइन आवेदन कर रहे हैं। करौली उपखंड कार्यालय से ई-मेल एड्रेस (sdmkar-kar@rajasthan.gov.in) भी जारी किया गया है। लिहाजा, तय फॉर्मेट में विवाह की जानकारी, दूल्हा-दुल्हन के आधार कार्ड की कॉपी, 31 मेहमानों की सूची मय मोबाइल नंबर भेजनी होगी। संबंधित आवेदक को वापस ई-मेल से स्वीकृति जारी होगी। खास यह है जिन परिवारों ने पहले अनुमति ले रखी है। उनको एसडीएम कंट्रोल रूम से फोन करके मेल आईडी देंगे। जिस पर 31 मेहमानों की सूची उपखंड अधिकारी को देनी होगी।

इस साल शादियों के शुभ मुहूर्त, इसमें अबूझ सावे भी मई 1,2,3,7,8,9,14,19,21,22,23,24,26,27,28,29 व 30 (14 मई को आखातीज का अबूझ सावा) जून 5,6,15,16, 18,19,20,22,24 व 30 (20 जून को गंगा दशहरा का अबूझ सावा) जुलाई 1से 7, 15,18 व 20 (18 भडल्या नवमी,20 देव शयन एकादशी का अबूझ सावा) नवंबर 14,16,20 से22,28 से 30 तक (15 को देव उठनी का अबूझ सावा) दिसंबर 1 व 2, 6 से 9, और 11 से 13 तक जय मार्तंड पंचांग के अनुसार।

अक्षय तृतीया अबूझ सावे पर नहीं होंगे किसी भी समाज के सामूहिक विवाह

सबसे बडा 14 मई को अबूझ सावा अक्षय तृतीया लगातार दूसरे साल भी कोरोना संक्रमण की भांति राहू की चपेट में नजर आ रहा है। यही वजह है कि इस बार अक्षय तृतीया अबूझ सावे पर कोई भी सामूहिक विवाह नहीं होगा। दरअसल, यह नई गाइडलाइन भी 17 मई तक की है। कोरोना को लेकर सरकार की सख्ती और एक लाख रुपए तक जुर्माने ने सबको पसीना ला दिया है। ज्योतिषाचार्य शिवदत्त शास्त्रीजी महाराज के अनुसार मई में आठ से दस रेखा के कई मुहूर्त हैं, जुलाई में देवशयन के बाद नवंबर माह में विवाह के लिए चार माह के लंबे अंतराल के बाद शुभ मुहूर्त आएंगे। इंवेंट संचालक मिलाप जैन के अनुसार ज्यादातर लोग बुकिंग को निरस्त कराने आ रहे हैं,एेसे में उनको काफी नुकसान हाे रहा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें