हादसा - बह गए तीन भाई-बहन:नाले में पानी आया तो बह गए तीन भाई-बहन, खेलते वक्त हुआ हादसा

करौली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मासलपुर। तालाब में बहे बच्चों के शव युवकों ने ढाई घंटे में निकाले। - Dainik Bhaskar
मासलपुर। तालाब में बहे बच्चों के शव युवकों ने ढाई घंटे में निकाले।
  • 7 गोताखोरों ने रात 9:30 बजे निकाले मासूमों के शव

मासलपुर थाना अंतर्गत छेड़ का पुरा निवासी एक ही परिवार की दो सगी बालिकाओं व एक बालक की तालाब में डूबने से मौत हो गई। जानकारी लगते ही ग्रामीणों एवं परिजन तालाब पर पहुंचे। जहां बालिका सरिता के शव को पानी में तैरता देख परिजनों का रुदन शुरू हो गया। वहीं मौके पर पहुंचे 7 गोताखोरों ने 2:30 घंटे की मशक्कत के बाद शवों को बाहर निकाला। जानकारी पर पहुंचे मासलपुर थाना अधिकारी ने शवों को माचलपुर अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है जिनका अल सुबह पोस्टमार्टम किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार छेड़ का पुरा निवासी सतीश गोस्वामी कि दोनों पुत्रियां सरिता (9), शिवानी (5) एवं पुत्र शिवम 7 साल शनिवार दोपहर को घर से दोपहर 2:00 बजे खेलने की कहकर पास ही स्थित तालाब पर चले गए। देर शाम लगभग 6:00 बजे जब बच्चे वापस नहीं आए तो परिजनों ने उनकी तलाश शुरू की तो किसी ने बताया कि एक बच्ची का शव पास ही स्थित तालाब में तैरता हुआ दिखा है जिस पर सभी लोग एवं ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचे तो देखा सतीश की बड़ी पुत्री सरिता कश्यप का पानी के ऊपर शव तैर रहा था जिस पर परिजन बेहाल हो कर रोने लगे। जानकारी लगते ही ग्रामीणों ने गोताखोरों और तालाब में अन्य बच्चों की तलाश शुरू कराई देर रात 9.30 तक तीनों बच्चों के शव पानी से बाहर निकाल लिए गए वहीं जानकारी लगते ही मौके पर पहुंचे मासलपुर थाना अधिकारी शैलेंद्र सिंह डागुर ने शव को मासलपुर अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया।

बिखर गया परिवार, एक बेटा ही बचा : जानकारी के अनुसार बच्चों के पानी में डूबने की सूचना लगने पर गोताखोर बबलू, नमो नारायण, रामविलास ,कालूराम, रायसिंह ,बनिया तीनों बच्चों की तलाश में जुट गए और सबसे पहले सरिता के शव को पानी से बाहर निकाला उसके बाद शिवानी के शव को तथा अंत में शिवम के शव को पानी से बाहर निकाला गया। लगभग ढाई घंटे की मशक्कत के बाद तीनों शवों को पानी से बाहर निकाल लिया गया और मासलपुर अस्पताल की मोर्चरी में भिजवाया। ग्रामीणों ने बताया कि तीनों बच्चे अपने माता-पिता से खेलने की कहकर बाहर गए थे। दोपहर 2:00 बजे खेलने के लिए गए। लगभग 5:00 बजे छेड़ का पुरा और खेड़िया की तरफ बारिश शुरू हो गई बारिश के तेज होने के कारण नाले में पानी आ गया और पानी का बहाव संभवतः तीनों बच्चों को बहाकर ले गया और वह तालाब में डूब गए।

खबरें और भी हैं...