बाघ के शिकार की आशंका:मंडरायल के जंगल में वन्यजीव के सिर का ढांचा, छोटी-बड़ी 11 हडि्डयां मिली

करौली21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
करौली । उप वन संरक्षक कार्यालय में मेडिकल टीम पोस्टमार्टम करती हुई  । - Dainik Bhaskar
करौली । उप वन संरक्षक कार्यालय में मेडिकल टीम पोस्टमार्टम करती हुई ।
  • देहरादून से रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगा यह बाघ की है या अन्य जीव

कैला देवी अभ या या क्षेत्र के मंडारायल रेंज में नीदर बांध के पास (श्य रदेह ना ) वन् जीव का सिर और छोटी -बड़ी 11 हड्डियां मिली हैं। सिर बड़ा होने तथा अभया या में दो साल से बाघ-बाघिन के गायब होने से यह ढांचा तथा हडि् डयां बाघ का होने की आशका जताई जा रही है। हालकि पोस्टार्टम और प्रा ंभिक तौर पर वन विभाग तथा अभ या या के अध का का ने इन्हें बाघ की हडि् डयां नहीं माना है। सिर व हड्डियां लेकर उप वन संर्षक कार् यालय करौली पहुंचे।

पोस्टमार्टम करवाकर विसरा सैंपल भार तीय फॉरे सिक लैब देहरादून भेज दिए हैं। हालांकि अभी यह पुष्टि नहीं हो पाई है कि सिर और हडि् डयां बाघ के हैं या किसी दूसरे वन् जीव के। अध का का ने विसरा रिपोर्ट आने से पहले इसकी पुष्टि करने से इनकार करदिया है। गौर तलब है कि कैला देवी अभ या या से एक साल पहले बाघ सुल तान और दो साल से बाघिन सुंदरी लापता हो गई थी। वन विभाग के अधि ारी दोनों का पता नहीं लगा पाए हैं। अभ या या में विभाग ने किसी भी बाघ के गले में रेडियो कॉलर भी नहीं लगा रखा है। इससे लापता बाघा-बाघिन का पता लगाने में मुश किल आ रही है।

इधर, इस संबंध में मंडायल रेंजर प्रदीप शर्मा का कहना है कि वन् जीव का कंकाल मिला है। यह किस वन् जीव का है, इसकी पुष्टि विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही हो पाए गी। करौली डीएफओ राम नंद भाकर का कहना है कि हडि्डयां पैंथर या टाइगर की है, इसकी पुष्टि पोस्ट ार्टम में नहीं हुई है। इस लिए उसका विसरा देहर ादून भेजा है। वन विभाग के वरिष्ठ पशु चिकि्सक, सीसीएफ टी. सी. वर्मा, कले ्टर सिदार्थ सिह ाग, एसपी शैलेंद्र सिंह इंदोिया, डी फओ बाघ परियोजना राम नंद भा र, डी फओ वाइ ल्ड लाइफ सुमित बंसल सहित वन अधिाकारी की मौज दगी में पोस्टमार्टम किया गया।

खबरें और भी हैं...