पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीन दिवसीय महोत्सव:जयंती माता के तीन दिवसीय महोत्सव में उमड़े श्रद्धालु

खंडार7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रणथंभौर राष्ट्रीय अभयारण्य के तारागढ़ दुर्ग में विराजित जयंती माता के तीन दिवसीय महोत्सव में मुख्य दिवस के अवसर पर तीसरे दिन मंगलवार को श्रद्धालुओं की विशेष भीड़ देखी गई। इस दौरान स्थानीय सहित दूरदराज से पहुंचे सैकड़ों श्रद्धालुओं ने माता के दरबार में माथा टेककर मनौतियां मांगी। दूसरी ओर श्रद्धालुओं द्वारा कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए कोरोना गाइडलाइन व सोशल डिस्टेंसी की पूरी पालना की गई। जयंती माता के दरबार में प्रतिवर्ष भाद्रपद शुक्ल अष्टमी को विशाल मेला भरता है लेकिन इस बार कोरोना महामारी की पाबंदियों को ध्यान में रखते हुए मेला समिति द्वारा मेले के आयोजन को स्थगित कर दिया गया था तथा माता के दरबार में तीन दिवसीय महोत्सव आयोजित करने का निर्णय लिया गया।

इसके तहत माता के मंदिर में गिने चुने भक्तों द्वारा कई प्रकार के धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है। जयंती माता के प्रति श्रद्धालुओं की अटूट श्रद्धा के चलते महोत्सव के मुख्य दिवस पर सैकड़ों श्रद्धालु माता के दरबार में हाजिरी लगाने पहुंचे। हालांकि मंदिर परिसर में मौजूद भक्तों द्वारा एक एक श्रद्धालु को माता के दर्शनार्थ मंदिर में प्रवेश देकर कोरोना गाइडलाइन की पूरी पालना की जा रही थी। जयंती माता मंदिर महंत भरत लाल दुबे ने बताया कि महोत्सव के मुख्य दिवस के अवसर पर मंगलवार को माता की विशेष पूजा अर्चना के साथ फूल बंगला झांकी सजाई गई है। साथ ही माता मंदिर में चल रहे दुर्गा सप्तसति व नवचंडी के पाठों की हवन पूजन के साथ फूर्णाहुति भी की गई। वहीं रात को माता का जागरण किया गया। उन्होंने बताया कि बुधवार को गणेशजी की विदाई के साथ महोत्सव का समापन किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...