कोरोना का असर:खंडार उपखंड में लॉकडाउन के चलते बिजली की खपत रही कम

खंडारएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सभी 33 केवीए जीएसएस पर कुल 589.6 लाख यूनिट हुई खर्च

कोराेना महामारी ने देश अाैर प्रदेश को ही नहीं पूरे विश्व को हिलाकर रख दिया है। इस जानलेवा बीमारी के लॉकडाउन से देशभर में पॉजिटीव व नेगेटिव दोनों तरह के असर देखे गए हैं। इसका पॉजिटिव असर यह है कि इससे प्रदूषण कम हुआ है, नदी, नाले, झील एवं तालाबों में पानी निखरा है। वहीं नेगेटिव असर यह है कि लॉकडाउन से सरकारी काम काज के साथ मजदूर, कामगार, दुकानदार, व्यापारी, किसान, आम लोग, औद्योगिक गतिविधियां सभी कुछ प्रभावित हुए हैं। इतना ही नहीं इसका असर उपखंड मुख्यालय खंडार क्षेत्र में बिजली की खपत पर भी देखा गया है। यहां पिछले 5 माह में कुल 589.66 लाख यूनिट बिजली की खपत हुई है। इसकी रफ्तार लॉकडाउन अवधि में कम हुई है। वहीं बिजली की छीजत पर भी इसका असर देखने में आया है। काेराेना महामारी को लेकर देशभर में लॉकडाउन का प्रथम चरण 25 मार्च से 14 अप्रैल तक चला। द्वितीय चरण 15 अप्रैल से 3 मई तक, तृतीय चरण 4 मई से 17 मई तक, चतुर्थ चरण 18 मई से 31 मई तक, पांचवां चरण 1 जून से 30 जून तक चला है। इस अंतराल में क्षेत्र में कुल 414.6 लाख यूनिट बिजली की खपत हुई है। लॉकडाउन अवधि में बिजली की खपत कम होने के पीछे निगम अधिकारियों का तर्क है कि क्षेत्र में फरवरी माह तक कृषि कार्य चला था। वहीं लॉकडाउन अवधि में कृषि कार्य कम चला था।   बिजली निगम से मिली जानकारी के अनुसार सहायक अभियंता कार्यालय खंडार क्षेत्र में 33 केवीए के कुल 14 जीएसएस है। इनमें 33 केवीए जीएसएस खंडार, तलावड़ा, गोठड़ा, पादड़ा, सिंगोर कलां, बहरावंडा कलां, कबीरपुरा, बालेर, कोसरा, खंडेवला, मेईकलां, दौलतपुरा, बहरावंडा खुर्द, फलौदी आदि शामिल है। इन सभी 33 केवीए जीएसएस पर पिछले 5 महीने में कुल 589.6 लाख यूनिट बिजली की खपत हुई है। इसमें फरवरी माह में कुल 175 लाख यूनिट बिजली की खपत हुई। इसी तरह मार्च में 161 लाख यूनिट, अप्रैल में 98.65 लाख यूनिट, मई माह में 78.29 लाख यूनिट, जून में 76.66 लाख यूनिट की खपत हुई है। मई माह में रही बिजली की सबसे अधिक छीजत इसी तरह क्षेत्र के सभी 33 केवी जीएसएस पर पिछले पांच माह में से मई माह में सबसे अधिक बिजली की छीजत हुई है। फरवरी माह में कुल 18 प्रतिशत बिजली की छीजत दर्ज की गई। इसी तरह मार्च माह में 14.92 प्रतिशत, अप्रैल में 1.92 प्रतिशत, मई में 35.45 प्रतिशत, जून में 12.24 प्रतिशत बिजली की कुल छीजत रही है।

खबरें और भी हैं...