पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

किसान हताश:कोटपूतली-पावटा व विराटनगर क्षेत्र में एक ही रात में 30% फसलें चट कर गई टिडि्डयां

कोटपूतलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गुरुवार रात खेतों में डाले रखा पड़ाव, सवेरे 11:30 बजे हवा के साथ अलवर की तरफ उड़ीं
Advertisement
Advertisement

शहर के करीब 12 गांवों में गुरुवार दोपहर से ही रातभर तक टिड्डियों ने धावा बोले रखा। दिन में तो ज्यादातर जगह लोगों ने थाली, परात, पीपे और डीजे आदि बजाकर भगा दिया  लेकिन जैसे ही रात हुई तो टिड्डी दल ने महरमपुर राजपूत, कीरतपुरा, चतुर्भुज, बामनवास, नांगलपंडितपुरा, नांगड़ी वास, जाहिदपुरा व हांसियावास में रातभर पड़ाव डाल दिया।

रात 12 बजे कृषि विभाग के अधिकारी ग्रामीणों के साथ 3 दमकल, 1 मोटरसाइकिल चलित स्पेयर, 11 ट्रैक्टर चलित स्पेयर व 2 कैंपर स्पेयर से दवा डालते हुए इनके सफाया करने में जुट गए। अधिकारियों व ग्रामीणों को सफलता भी मिली। शुक्रवार सुबह तक 70  फीसदी टिडिडयों का सफाया कर दिया गया था। 30 फीसदी टिडिडयां अनेक गांवाें के ऊपर से उड़ती हुई नारायणपुर, थानागाजी क्षेत्र की तरफ मूवमेंट कर गई। किसानों के अनुसार टिडि्डयों से फसल को नुकसान पहुंचा है। 

ग्रामीणों का कहना- ठूंठ ही रह गए पेड़
82 वर्षीय हांसियावास निवासी ओमकार जाट, झाबर गुर्जर, रामनारायण गुर्जर, रामस्वरूप गुर्जर, छाजूराम, रामसिंह छेपट, अजय गुर्जर, ज्ञानसिंह, अमित ने बताया कि नांगड़ीवास, हांसियावास आदि गांवों में पूरी रात ग्रामीण अपने खेतों पर लाेहे के पीपे, थाल व डीजे बजाकर टिड्डी दल को भगाते रहे।  

शुक्रवार सुबह इन प्रभावित जगहों का फसल को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा लेकिन अनेक पेड़ ठूंठ में तब्दील हो गए। अनेक जगह पेड़ों पर टिड्डी दल के बैठने से उनके वजन के कारण टहनियां टूट गई। हांसियावास रोड पर सुबह अनेक जगहों पर पूरा परिवार जिसमें छोटे बच्चे, महिला पुष सभी टिड्डी दल को भगाने में जुटे हुए थे।

मुआवजा दिलाया जाए
पूर्व संसदीय सचिव रामस्वरूप कसाना, भाजपा नेता मुकेश गोयल ने मुख्यमंत्री से किसानों को मुआवजा देने की मांग की।

भाबरू: सवेरे हवा के रुख के साथ पलायन 
भाबरु| क्षेत्र में गुरुवार शाम को हवा थमने के साथ ही टिड्डी दल ने बीलवाड़ी, छींतौली, बनिया का बास के जंगलों में पेड़ों पर डेरा डाल दिया, जिससे अनेक पेड़ों की पत्तियों को खाकर उन्हें नष्ट कर दिया। अधिकतर स्थानों पर पशुओं के चारे के लिए उगाई गई ज्वार व बाजरे की फसल की पत्तियों को चट कर गए, वही कुछ स्थानों पर अंकुरित फसल को भी टिड्डी दल ने नुकसान पहुंचाया। शुक्रवार सुबह हवा चलने के साथ में टिड्डी दल पलायन कर गया।

विराटनगर: लाखों टिड्‌डियों ने मचाई तबाही
विराटनगर| आठ किमी लंबे व चार किमी चौड़े टिड्‌डी दल ने किसानों की बाजरे एवं सब्जी की फसल को चौपट कर डाला। छीतोली, जयसिंहपुरा क्षेत्र में पड़ाव डाले दल ने 4 घंटे तक क्षेत्र में मंडराते हुए पेड़-पौधों की पत्तियों को नष्ट कर दिया। गुरुवार रात को कोटपूतली व पावटा के पांछूडाला से होकर गुजरे दल ने छीतोली, जयसिंहपुरा, बनिया का बास, सुरजपुरा में पड़ाव डाल रखा था। सवेरे 11:30 बजे डेहरा होते हुए अलवर जिले में प्रवेश कर गया।

पावटा: फसल बचाने के लिए करते रहे 
पावटा| तुलसीपुरा, ठीकारिया, टोरडा ब्राह्णाणान, वीर तेजाजी नगर, भांकरी क्षेत्र के दर्जनों ग्राम पंचायत क्षेत्र में टिड्डी दल ने हमला कर दिया। टिड्डियों को देखकर किसान फसलों को बचाने के लिए खेतों में पहुंचकर थाली, पीपे, परात बजाकर खेत में बैठने से रोकने का प्रयास किया। सुरेश गठाला, अमित गजराज, प्रागपुरा सरपंच अशोक सैनी, पावटा सरपंच उर्मिला अग्रवाल, जोधपुरा सरपंच प्रहलाद माठ, मंढा सरपंच विमला देवी ने सरकार से नुकसान की भरपाई की मांग की।

अचरोल : टिड्डियों के हमले से दिन में ही छाया अंधेरा
अचरोल| गांवों में सुबह पहुंचे टिड्डी दल से किसान व ग्रामीण दहशत में आ गए। हजारों टिड्डियों के आने से दिन में ही अंधेरा छा गया। भयभीत ग्रामीणों ने थाली, पीपे बजाकर फसल बचाने के लिए टिड्डियों को भगाया। 

बागावास चौरासी: कीटनाशक से टिडि्डयों का कराया नष्ट
बागावास चौरासी| जवानपुरा, गुजरपुरा, खातोलाई, चतरपुरा के खेतों में टिड्डी दल के पड़ाव डालने से बाजरा, मूंग, ज्वार, ग्वार की फसल को नुकसान हुआ। इनको नष्ट करने के लिए कीटनाशक का छिड़काव किया।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement