हादसे का इंतजार ?:कोटपुतली शहर में जगह-जगह लटक रहे बिजली के तार, लोगों पर मंडरा रहा हादसे का खतरा

कोटपुतली3 महीने पहले

कोटपुतली शहर में पिछले काफी समय से बिजली आपूर्ति की लाइनों के तार और ट्रांसफार्मर लोगों के लिए जी का जंजाल बने हुए हैं। शहर का कोई ऐसा मोहल्ला नहीं है, जहां पर बिजली की लाइनों के तार न लटकते हो या उनका जंजाल न फैला हो। इन तारों पर बंदर भी अठखेलियां करते रहते हैं। बिजली के तार बंदरों का झूला भी बने हुए हैं।

ट्रांसफॉर्मरों के पास उग रहीं झाड़ियां
ट्रांसफार्मरों के पास झाड़ियां बैगासपुर होने की वजह से आवारा पशु आकर्षित होते हैं, खुले हुए तारों की वजह से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। वहीं इन सभी लापरवाही के चलते शहरवासियों को अत्याधिक सावधान रहने की आवश्यकता है। उन्हें कभी भी करंट का झटका लग सकता है। शहर में कदम-कदम पर खतरा मंडरा रहा है।

हादसे की आशंका
कोटपुतली नगरपालिका पार्क के पास बने सार्वजनिक शौचालय के कोने पर रखे विद्युत विभाग के ट्रांसफार्मर बाजार की मुख्य सड़क पर होने के बावजूद नंगे तार जमीन से कुछ ऊंचाई पर स्थित है। जिससे कोई आवारा जानवर या राहगीर उन की चपेट में आने से दुर्घटना होने का अंदेशा मंडराता रहता है। विद्युत विभाग के ट्रांसफार्मर के पास बड़ी तादाद में लोगों का आवागमन रहता है।

जमीन से कुछ ही ऊंचाई पर रखे ट्रांसफॉर्मर
बिजली सप्लाई के लिए लगाए गए ट्रांसफार्मर भी अनेक स्थानों पर जमीन से कुछ ही ऊंचाई पर ही रखें है। वहीं उनके स्विच बोर्ड भी जमीन से नाम मात्र की ऊंचाई पर लगे हैं। इनके नंगे तार भी खुले पड़े हैं। जो किसी भी समय किसी बड़े हादसे को अंजाम दे सकते हैं। शहर के भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में भी रखें गए ट्रांसफार्मर ही नहीं उनके स्वीच बोर्ड भी लोगों के लिए खतरा बने हुए हैं।

जिम्मेदारों का ये कहना
कोटपुतली जेईएन संजीव जाखड़ ने बताया कि जल्दी ही ऐसे ट्रांसफार्मरों को चिन्हित कर सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। एक्सईएन जेपी बैरवा ने बताया कि शहर में लगे हुए विद्युत ट्रांसफार्मरों को कवर करने का विभाग की तरफ से कोई बजट नहीं आता, जहां जनहानि की संभावना होती है, वहां विभाग की तरफ से उसे कवर करवाया जाएगा। शहर में ढीले पढ़े विद्युत विभाग के तार और संवेदनशील जगह पर रखे विद्युत ट्रांसफार्मर की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी।

खबरें और भी हैं...