अब बदलेगी पुरुषोत्तमपुरा के तालाब की तस्वीर:संस्था ने तालाबों के पुनर्निर्माण एवं साफ सफाई का उठाया बीड़ा, कहा-जल स्रोतों का संरक्षण करना हमारा प्रथम दायित्व

कोटपूतली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्रामीण क्षेत्रों में तालाबों की हो रही बदहाली को लेकर आओ साथ चले संस्था ने उनके पुनर्निर्माण एवं साफ सफाई का बीड़ा उठाया है। इसी के तहत संस्था के राष्ट्रीय संयोजक डॉ. विष्णु मित्तल ने तालाबों की साफ-सफाई व खुदाई कार्य का शुभारंभ किया।

जल स्रोतों का संरक्षण करना हमारा प्रथम दायित्व
राष्ट्रीय संयोजक ने कहा कि पुराने जल स्रोतों का संरक्षण व उन्हें जीवित रखना हमारा प्रथम दायित्व है। पिछले कई दिनों से तालाबों की बारिश से पहले साफ -सफाई व खुदाई को लेकर संस्था की टीम ग्रामीणों के साथ मिलकर इस काम में जुटी हुई है। सुदरपुरा में गत वर्ष निर्मित तालाब की सफाई के बाद अब पुरुषोत्तमपुरा के तालाब को पुनर्जीवित करने का काम शुरू किया गया।

कई सालों से करा रहे है तालाबों का निर्माण
गौरतलब है कि क्षेत्र के अनेक गांवों में जल संरक्षण के व्यापक अभियान एवं क्रियान्वयन के चलते आओ साथ चलें के राष्ट्रीय संयोजक डॉ. विष्णु मित्तल को केंद्र सरकार के जल शक्ति मंत्रालय द्वारा दिल्ली में आयोजित एक भव्य सम्मान समारोह में जल-पहरी सम्मान-2022 से नवाजा गया था। आओ साथ चलें संस्था द्वारा पिछले कई सालों से अनेक जोहड़, तालाबों का निर्माण करवाया जा चुका है।

ये रहे मौजूद
इस मौके पर दीनदयाल शोध संस्थान के अतुल जैन, संस्था की सीईओ डॉ. मीना जांगिड़, उपाध्यक्ष आनंद मित्तल, पुरुषोत्तमपुरा सरपंच विनोद सौभन सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...